मुखपृष्ठ > Kyzilsu किर्गिज़ स्वायत्त प्रान्त
COVID-19 : IMF ने बनाया 50 अरब डॉलर का इमरजेंसी फंड, कोरोना वायरस से लड़ने में करेगा मदद
रिलीज़ की तारीख:2022-10-08 03:29:57
विचारों:123

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददRBSE 10th Supplementary Result 2020: राजस्थान बोर्ड आरबीएसई 10वीं सप्लीमेंट्री परीक्षा के नतीजे घोषित, ऐसे करें चेक****** राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, RBSE ने RBSE 10 वीं सप्लीमेंट्री परीक्षा परिणाम 2020 घोषित किया है। राजस्थान 10 वीं सप्लीमेंट्री परीक्षा का परिणाम आधिकारिक वेबसाइट rajeduboard.rajastha.gov.in पर उपलब्ध है। छात्र कृपया ध्यान दें कि RBSE 10वीं सप्लीमेंट्री परीक्षा परिणाम 2020 rajresults.nic.in पर उपलब्ध नहीं है। परिणामों की जाँच करने के लिए सीधा लिंक आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। राज्य में सप्लीमेंट्री परीक्षा 3 सितंबर, 2020 से 12 सितंबर, 2020 तक आयोजित की गई थीं।उपलब्ध जानकारी के अनुसार, कुल 87 हजार छात्रों ने सप्लीमेंट्री परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया। इनमें से 47,827 पुरुष छात्रों और 39,726 महिला छात्रों ने परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया था। इनमें से 41,702 पुरुष और 35,584 महिला छात्र परीक्षा के लिए उपस्थित हुए। 61.90% लड़के और 65.30% लड़कियों ने सप्लीमेंट्री परीक्षा पास की है। राजस्थान बोर्ड ने पहले आधिकारिक वेबसाइट पर आरबीएसई कक्षा 12 पूरक परिणाम 2020 की घोषणा की थी। राजस्थान बोर्ड वी। उपाध्याय और प्रवीशिका परीक्षा के लिए भी परीक्षा आयोजित करता है। उसी के परिणाम भी जारी किए गए और आधिकारिक वेबसाइट rajeduboar.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध कराए गए।

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददये 5 आदतें आपके बालों के कमजोर और टूटने की हैं वजह******हर कोई चाहता है कि उसके बाल मजबूत, सुंदर और घने हों। लेकिन रोजाना की कुछ ऐसी आदतें होती हैं जिनकी वजह से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। ये ऐसी आदतें हैं जिन्हें आप समझते हैं कि आपके बालों के लिए ठीक हैं लेकिन धीरे-धीरे यही आदतें आपके बालों को नुकसान पहुंचाती हैं। जिसकी वजह से आपकेबाल कमजोर होते हैं और टूटने लगते हैं। जानिए ये 5 आदतें कौन सी हैं और किस तरह से आपके बाल टूटने का कारण है।नहाने के बाद ज्यादातर लोग बालों में तौलिए को लपेट लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो इस बात को जान लें कि ऐसा करने से आपके बाल टूट सकते हैं। इसके साथ ही बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल ना करें। इससे भी आपके बाल कमजोर होते हैं और जल्दी टूटने लगते हैं। अगर आप बालों को ड्रायर से सुखा भी रहे हैं तो उसकी बालों से दूरी ज्यादा होनी चाहिए।बालों को बांधने के लिए कई लोग प्लास्टिक के बैंड का इस्तेमाल करते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो इस आदत को बदल लें। ऐसा इसलिए क्योंकि इलास्टिक बैंड के मुड़ने से आपके बालों पर दबाव पड़ता है। इससे आपके बाल टूट सकते हैं। अगर आपको अपने बालों को बांधना है तो कपड़े वाले हेयर बैंड का इस्तेमाल करें।बहुत सारे लोग कंडीशनर का इस्तेमाल बालों पर गलत तरह से करते हैं। इसकी वजह से भी बाल कमजोर होते हैं और जल्दी टूटने लगते हैं। ज्यादातर लोग बालों पर कंडीशनर लगाते हैं तो इसे बालों की जड़ों से लगाना शुरू करते हैं। ऐसा करने से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। इसलिए बालों पर कंडीशनर उसकी लेंथ पर ही लगाएं।कई लोग समय ना होने पर बालों को नहीं धोते हैं। ज्यादा समय तक गंदे बाल रहने से भी कमजोर हो जाते हैं जिसकी वजह से भी बाल टूटने लगते हैं। इसलिए बाल गंदे होने पर उसे धो लें।कई लोगों की आदत होती है कि वो चश्मा आंखों से हटाकर बालों की तरफ ऊपर की ओर कर लेते हैं। कभी कभी की तो ये आदत ठीक है लेकिन ऐसा लगातार करने से बाल पतले हो सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि चश्मे की जकड़न सिर में खून के प्रवाह को कम करती है जिससे बालों का विकास धीमा हो सकता है। इसलिए इस आदत को बदल लें।नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददQueen Elizabeth: कितनी दौलत छोड़ गईं क्वीन एलिजाबेथ, जानिए कैसे होती थी महारानी की कमाई?******Highlightsब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके निधन से पूरी दुनिया में शोक की लहर है। वे दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में शमिल थीं। वे अकेली ऐसी महिला थीं विश्व की, जिन्हें विदेश यात्राके लिए पासपोर्ट या वीजा की आवश्यकता नहीं पड़ती थी। लेकिन ये जानना बड़ा दिलचस्प है कि 96 साल की महारानी के पास कितनी दौलत थी। साथ ही यह भी कि उनकी आय का स्रोत क्या था। इसे लेकर कई रिपोटर््स अलग अलग दावे करती हैं। हालांकि शाही परिवार के सदस्यों को करदाताओं की ओर से मोटी राशि प्राप्त होती है। लेकिन फिर भी शाही परिवार की आय के सोर्स अज्ञात हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की आय के तीन स्रोत थे। इनमें सोवेरिन ग्रांट, प्रिवी पर्स और उनकी निजी संपत्ति से होने वाली आय शामिल है।ब्रिटेन की महारानी की दौलत के बारे में अक्सर अनुमान लगाया जाता है, लेकिन खुद महारानी की ओर से इस बारे में कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। हालांकि उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने अनुमान जरूर लगाया है। एक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ सेकंड की अनुमानित कुल दौलत 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी।2022 में 33 अरब रुपए से अधिक थी महारानी की कुल अनुमानित संपत्तिब्रिटेन की महारानी की संपत्ति के बारे में अक्सर अनुमान लगाया जाता है लेकिन खुद महारानी की तरफ से इस बारे में कभी कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। लेकिन उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने इस संबंध में अपना अनुमान लगाया है। गुडटू नामक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसारए साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की अनुमानित कुल संपत्ति 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी। वहीं मीडिया रिपोटर््स के अनुसार 2020 में उनकी कुल संपत्ति से 15 मिलियन पाउंड अधिक थी और इसमें उनकी निजी आय और सोवेरिन ग्रांट शामिल हैं।कुल संपत्ति 6,631 अरब रुपए से अधिकपिछले कुछ वर्षों में महारानी पेपर की सालाना रिच लिस्ट में 30 स्थान तक नीचे गिर गईं। 2020 में वह 372वें स्थान पर थीं और 2018 के बाद से यह 30 स्थानों की गिरावट थी। पूरे राजशाही परिवार की संपत्ति की बात करें तो फोर्ब्स मैग्जीन के अनुसार उनकी कुल संपत्ति 72.5 बिलियन पाउंड , यानी 6.631 अरब रुपए से अधिक है। महारानी के आय के प्रमुख स्रोतों के बारे में बात करें तो उन्हें सोवेरिन ग्रांट वार्षिक तौर पर सरकार से प्राप्त होती थी। जबकि बाकी दो स्रोत स्वतंत्र थे प्रिवी पर्स महारानी की निजी आय होती है, जिनमें करदाताओं का पैसा शामिल नहीं था।पैलेस में आने वालों से नहीं होती कमाईलंदन के अलावा शाही परिवार की संपत्ति स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड में भी है। यह महारानी की निजी संपत्ति है, जिसे बेचा नहीं जा सकता बल्कि यह उनके उत्तराधिकारियों को हस्तांतरित होगी।रॉयल कलेक्शन में 10 लाख से ज्यादा चीजें शामिलमहारानी की संपत्ति में सिर्फ उनकी शाही परिवार की निजी संपत्तियां ही शामिल नहीं हैं, बल्कि उन्हें दुनियाभर से कई बेशकीमती गिफ्ट्स भी मिलती रही हैं। इन संपत्तियों में बेशकीमती कलाकृतियां, हीरे जवाहरात, लग्जरी कारें, शाही स्टैंप कलेक्शन के साथ ही अच्छी नस्ल के घोड़े भी शामिल हैं। इनकी कीमता का अनुमान लगाया जाए तो यह करीब 10 खरब रुपए होती है, जो कि बहुत बड़ी रकम है। हालांकि यह संपत्ति ब्रिटेन के एक ट्रस्ट के पास है। ब्रिटेन के नए राजा किंग चार्ल्स की सालाना आय के बारे में बात की जाए तो उन्हें हर साल ‘Duchy of Cornwall‘ से करीब 21 मिलियन पाउंड की आय प्राप्त होती है।

COVID-19 : IMF ने बनाया 50 अरब डॉलर का इमरजेंसी फंड, कोरोना वायरस से लड़ने में करेगा मदद

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददमुम्बई: परेल का लालबाग मार्केट को अगले 5 दिनों के लिए बंद, 48 घंटे में सामने आए कोरोना के 7 मामले******मुंबई में कोरोना का संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते अनलॉक की प्रक्रिया भी बाधित होती दिख रही है। ताजा मामला कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई के परेल से सामने आया है। यहां पर पिछले 48 घंटों में 7 कोरोना के मामले सामने आए हैं। जिसके बाद परेल के लालबाग मार्केट को अगले 5 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। बता दें कि इस पूरे मार्केट इलाके में अप्रैल से अब तक 50 कोरोना मामले सामने आ चुके है।बता दें कि लालबाग मार्केट शहर के साबसे पुराने मार्केट में से एक है। यह मार्केट ग्रोसरी, नमकीन, मिठाई और मसाले के लिए पूरे मुम्बई में मशहूर है। इसी लालबाग़ मार्केट के तहत आनेवाले चिवड़ा गली में ही लालबाग़ के राजा गणपति की मूर्ति स्थापित होती है। इस चिवड़ा गली की दुकानों को भी बंद रखा गया है। परेल के लालबाग़ इलाके में कोरोना के मामलों में यह तेज़ी 15 जून से दुकानें खुलने के बाद सामने आई। इसलिए एहतियातन बीएमसी ने मार्केट को 5 दिन तक बंद करने का फैसला लिया।एक तरफ जहां कोरोना वायरस मुंबई से निकलकर आसपास के इलाकों में फैल रहा है। वहीं मुंबई शहर प्रशासन के लिए एक नई परेशानी सामने आ रही है। मुंबई से कोरोना के मरीज गायब हो रहे हैं। कुल 70 कोरोना पॉजिटिव गायब हैं। इनके पते ठिकाने और फोन नंबर फर्जी पाए गए हैं। एक और हैरान करने वाली बात यह है कि जो मरीज गायब हैं, जब उनके मोबाइल पर फोन किया गया तो पता लगा कि जो नंबर इन लोगों ने दिए थे वो किसी हेल्थ ऑफिसर का है तो कोई नंबर पुलिस वाले का है। बृहन्‍नमुंबई म्‍युनिसिपल कार्पोरेशन (बीएमसी) इन्हें खोजने में नाकाम रही है और अब पुलिस से मदद मांगी गई है। डिप्टी चीफ मिनिस्टर अजीर पवार ने कहा है कि कोशिश कर रहे हैं। कोरोना के मरीजों को जल्दी ट्रेस कर लेंगे। वहीं शहर के मंत्री असलम शेख का कहना है कि कुछ लोगों से संपर्क नही हो पा रहा है ये बात सही है लेकिन वो भागे नहीं हैं, हो सकता है उनमें से कुछ प्रवासी मजदूर हों या कुछ और वजह हो।नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददओला ने लांच की 'शेयर एक्सप्रेस', 100 नए रुट्स पर 30 30 फीसदी तक कम वसूलेगी किराया****** शेयर्ड मोबिलिटी सेगमेन्ट में उपभोक्ताओं को और बेहतर एवं किफायती सेवाएं उपलब्ध कराने के प्रयास में कैब एग्रीगेटर ओला ने ‘शेयर एक्सप्रेस’ को लॉन्च किया है। नए फीचर को 100 से अधिक मार्गो के लिए शुरू किया है। शेयर एक्सप्रेस के इस्तेमाल से किराए में करीब 30 फीसदी की कमी आएगी।कंपनी ने बुधवार को एक बयान जारी कर बताया कि शेयर एक्सप्रेस, ओला शेयर राईड की कीमतों में 30 फीसदी तक कमी लाकर राईड शेयरिंग के अनुभव को कई गुना बेहतर एवं किफायती बनाती है।ओला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और श्रेणी प्रमुख रघुवेश सरूप ने कहा, “ओला सड़कों पर प्रदूषण एवं जाम की समस्याओं को कम करने के लिए प्रतिबद्ध है। शेयर्ड राईड के लिए हमारा नया फीचर ‘शेयर एक्सप्रेस’ ओला शेयर को और अधिक किफायती बनाता है।cng carsनेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददWeather Update: आधा सितंबर बीता, लेकिन अभी भी सक्रिय है मानसून, जानिए किन राज्यों में होगी बारिश?******HighlightsWeather Update:सितंबर का पहला पखवाड़ा बीत चुका है। लेकिन मानसून की मेहरबानी अभी तक बनी हुई है। हालत यह है कि कुछ राज्यों में भारी बारिश की वजह से लोग परेशान हैं। वहीं कुछ जगह बारिश के ताजा दौर से लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली है। इसी बीच मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि दिल्ली समेत कई राज्यों में आज बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज का न्यूनतम 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा, जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री तक जाएगा। आज गुजरात, कोंकण, गोवा, राजस्थान मध्य प्रदेश, यूपी, बिहार आदि राज्यों में भी हल्की से मध्यम बारिश होगी।दिल्ली में मौसम बदला, आज भी बारिश के आसारराजधानी दिल्ली और एनसीआर में इन दिनों मौसम बदला हुआ है। बारिश और बादलों की मौजूदगी की वजह से गर्मी और उमस से राहत मिली है। बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हवाएं भी चलीं, जिससे तापमान कम हो गया। मौसम विभाग के अनुसार राजधानी दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं मध्यम बारिश का अनुमान भी जताया गया है।गुजरात के कई जिले भारी बारिश की चपेट मेंगुजरात में भी मानसून पूरी तरह बरस रहा है। राज्य के कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। अहमदाबाद का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है। यहां तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।मध्यप्रदेशः भोपाल में तेज बारिश का अलर्टमध्यप्रदेश में भी हाल के समय में खूब पानी बरस रहा है। राजधानी भोपाल के साथ ही बिजनेस सिटी इंदौर भी बारिश से तरबतर हो रहा है। यहां रुक रुककर बारिश का दौर जारी है। इसी बीच मौसम विभाग के अनुसार भोपाल का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।यूपीः लखनऊ में तेज बारिश की उम्मीदउत्तर प्रदेश में भी हाल के समय में कुछ जगहों पर बारिश हुई है। इसी बीच राजधानी लखनऊ में आज न्यूतनम तापमान 24 और अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहेगा। वहीं आज लखनऊ में तेज बारिश होने की उम्मीद नजर आ रही है।बिहारः पटना में भी होगी बारिशबिहार में भी कई स्थानों पर बारिश की उम्मीद जताई गई है। इसी बीच राजधानी पटना में भी तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। पटना में भी तापमान में आंशिक गिरावट दर्ज की गई है। यहां न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है।

COVID-19 : IMF ने बनाया 50 अरब डॉलर का इमरजेंसी फंड, कोरोना वायरस से लड़ने में करेगा मदद

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददवेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए कुलदीप-विश्नोई को टीम में मिली जगह, रोहित की वापसी******Highlightsवेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू टी20 और वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। कोहली की कप्तानी छोड़ने के बाद नवनियुक्त कप्तान रोहित शर्मा की टीम में वापसी हुई है। बुधवार शाम सिलेक्शन कमेटी की बेंगलुरु में मीटिंग के बाद टीम का ऐलान किया गया।सीनियर स्पिनर कुलदीप यादव की टीम में वापसी हुई है। इसके साथ ही अंडर-19 क्रिकेट से अपनी पहचान बनाने वाले लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को भी लिमिटेड ओवर की सीरीज के लिए पहली बार भारतीय टीम में चुना गया है। साथ ही तेज गेंदबाज आवेश खान को भी वनडे और टी-20 टीम में जगह दी गई है। वनडे टीम में दीपक हुड्डा को शामिल किया गया है जबकि वेंकटेश अय्यर वनडे टीम में जगह बनाने में असफल साबित हुए हैं। वहीं, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को आराम दिया गया है। केएल राहुल दूसरे वनडे मैच से टीम के साथ जुड़ेंगे। जबकि ऑलराउंडर रविंद्र जडेज घुटने की चोट के कारण टीम में शामिल नहीं किए गए हैं।रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (वीसी), रुतुराज गायकवाड़, शिखर, विराट कोहली, सूर्य कुमार यादव, श्रेयस अय्यर, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), डी चाहर, शार्दुल ठाकुर, वाई चहल, कुलदीप यादव, वाशिंगटन सुंदर , रवि बिश्नोई, मो. सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा, अवेश खानरोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (वीसी), ईशान किशन, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, सूर्य कुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), वेंकटेश अय्यर, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, रवि बिश्नोई, अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, वाशिंगटन सुंदर, मो. सिराज, भुवनेश्वर, अवेश खान, हर्षल पटेलनेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददMulayam singh yadav on Akhilesh: लोकसभा चुनाव के लिए मुलायम ने सपा को दिया नया मंत्र, जानिए अखिलेश के फेवर में क्या कहा?****** उत्तर प्रदेश में हुए ​हालिया विधानसभा चुनाव के बाद यूपी की सियासत में एक बार फिर सरगर्मी शुरू हो गई है। 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए अभी से यूपी में बीजेपी और समाजवादी पार्टी जुट गई है। सपा लोकसभा चुनाव को बीजेपी बनाम सपा बनाना चाहती है। इसके लिए उसने कोशिशें भी शुरू कर दी हैं। यह समझने के लिए आपको सपा संरक्षक मुलायम सिंह की उस बात को समझना होगा जो उन्होंने शुक्रवार शाम पार्टी दफ्तर में कार्यकर्ताओं से कही। मुलायम सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सभी 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए तैयार रहें।यूपी चुनाव के बाद पहली बार मुलायम और अखिलेश एक मंच पर साथ नजर आए। पार्टी दफ्तर में मुलायम सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए तैयार रहना होगा। हमारी लड़ाई भाजपा से है। इस बार भी मुकाबला सपा और भाजपा के बीच ही होना चाहिए।सपा का ध्यान 2024 में वोट के ध्रुवीकरण परदरअसल, मुलायम सिंह चाहते हैं कि पार्टी कार्यकर्ता इस बात को समझें और जनता तक यह बात पहुंचाएं कि इस बार भी भाजपा का मुकाबला सिर्फ सपा ही कर सकती है। इसीलिए उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि सूबे में अब तीसरी कोई पार्टी नहीं है। मुलायम सिंह यादव के कार्यकर्ताओं को दिए गए इस मंत्र के पीछे की रणनीति साफ है।अगर लोकसभा चुनाव में भी सपा यह समझाने में कामयाब हो जाती है कि भाजपा को सिर्फ वही कड़ी टक्कर दे रही है तो, विधानसभा चुनाव की तरह ही सपा के पक्ष में एक बड़े वोट बैंक का ध्रुवीकरण हो पाएगा। अखिलेश के साथ मंच पर आकर मुलायम ने भी संकेत देने की कोशिश की है कि वह शिवपाल से चल रहे विवाद में अखिलेश के साथ हैं।मुस्लिम वोटर्स के साथ यादव वोट बैंक पर नजरमुलायम और अखिलेश के साथ ही सपा सरंक्षक के पुराने साथी पूर्व मंत्री बलराम सिंह यादव भी मंच पर लंबे अरसे बाद एक साथ थे। इसे यादवों को जोड़ने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। दरअसल, चाचा शिवपाल लगातार आजम खान को लेकर अखिलेश और मुलायम पर निशाना साध रहे हैं। ऐसे में मुलायम का अखिलेश के साथ मंच पर रहना सपा को मजबूती दे रहा है।सिर्फ यही नहीं, वह यह भी मैसेज देना चाहते हैं कि यादव वोट बैंक अपने नेता मुलायम सिंह यादव और अखिलेश के साथ है। वह यह भी जताना चाहते हैं कि शिवपाल के साथ मिलकर भी आजम खान सपा के इस समीकरण को नहीं तोड़ पाएंगे।यूपी में अखिलेश VS योगी बनाने की कोशिशमुलायम चाहते हैं कि लोकसभा चुनाव में मुकाबला विपक्ष VS मोदी के बजाय योगी हो। इसीलिए जिस कानून व्यवस्था के मुद्दे पर योगी ने बुलडोजर बाबा की छवि बनाई है। उसी कानून व्यवस्था को हथियार बना कर अखिलेश योगी से मुकाबला करना चाहते हैं। पिछले एक महीने से अखिलेश यादव लगातार कानून व्यवस्था का मुद्दा उठा रहे हैं।मोदी की बजाय योगी पर फोकसअखिलेश लगातार पीड़ितों के घर जाकर योगी पर निशाना साध रहे हैं। हाल में ही ललितपुर पहुंचे थे। इससे पहले थाने में ही सुसाइड करने वाली महिला दरोगा रश्मि यादव के परिवार से मिलने गए थे। सियासी जानकार भी मानते हैं कि अगर मुकाबला मोदी से होगा तो अखिलेश को मुश्किल हो सकती है। लिहाजा, अखिलेश योगी पर फोकस रखना चाहते हैं।बसपा और कांग्रेस अभी रेस में नहींइसके पीछे वजह भी है। यूपी में बसपा और कांग्रेस मैदान में सक्रिय नहीं है। बसपा अभी अपना संगठन तक दुरुस्त नहीं कर पाई है। कांग्रेस तो अपना अध्यक्ष तक तय नहीं कर पाई है। ऐसे में अखिलेश के पास खुला मैदान है, जिसमें वो भाजपा को अपनी पिच पर खड़ा कर दोनों के बीच मुकाबला दिखा सकते हैं।

COVID-19 : IMF ने बनाया 50 अरब डॉलर का इमरजेंसी फंड, कोरोना वायरस से लड़ने में करेगा मदद

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददCentral Vista Project: नए संसद भवन की शोभा बढ़ाएंगे कश्मीर के कालीन, 50 बुनकर 1 साल से कर रहे तैयार****** दुनियाभर में मशहूर के पारंपरिक हस्तनिर्मित कालीन (Carpet) दिल्ली में निर्माणाधीन नए संसद भवन की शोभा बढ़ाएंगे। इन कालीनों को बडगाम जिले के दूर-दराज के बुनकर अब अंतिम रूप देने में लगे हैं। मध्य कश्मीर के बडगाम जिले स्थित खाग गांव के करीब 50 बुनकरों और कारीगरों के समूह पिछले एक साल से इन कालीनों को बुन रहे हैं। उन्हें यह जिम्मेदारी दिल्ली की एक कंपनी ने दी है। सरकार का कहना है कि संसद का शीतकालीन सत्र नई इमारत में होगा, जिसका निर्माण नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी के तहत चल रहा है।ताहिरी कार्पेट्स के कमर अली खान ने बताया, ‘‘हमें नए संसद भवन के लिए 12 कालीन का ऑर्डर पिछले साल अक्टूबर में मिला था।’’ खान का परिवार पिछले 32 साल से कालीन बुनाई और उनके निर्यात के काम में लगा है। उन्होंने कहा कि संसद के लिए कालीनों की बुनाई करने की जिम्मेदारी मिलना सम्मान और खुशी की बात है। उन्होंने कहा, ‘‘हाथ से बुने गए कालीन हमारी कला हैं और पूरी दुनिया में मशहूर हैं। लेकिन दुर्भाग्य से विभिन्न कारणों से इस काम में गिरावट आई। अब इस प्रोजेक्ट से हमें फिर से इस काम में तेजी आने की उम्मीद है।’’ उन्होंने बताया कि संसद भवन के लिए 11 गुणा आठ फुट के कालीन की बुनाई की जा रही है।खान ने कहा, ‘‘ये कालीन गोल आकार में बिछाए जाएंगे। इसलिए प्रत्येक कालीन की चौड़ाई एक समान नहीं है लेकिन न्यूनतम चौड़ाई चार फीट है।’’ उन्होंने कहा कि कालीन खास है और पारंपरिक कश्मीरी ‘कानी’ शॉल की तीन डिजाइनों को भी इसमें शामिल किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘50 बुनकर इस प्रोजेक्ट से जुड़े हैं जबकि इससे जुड़े 12 परिवार, कच्चा माल और डिजाइन मुहैया करा रहे हैं।’’ खान ने बताया कि प्रोजेक्ट का 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और बाकी काम अगले 20 दिनों में पूरा हो जाएगा।उन्होंने कहा, ‘‘डिजाइन तैयार करने में करीब तीन महीने का समय लगा और उसके बाद वास्तविक काम शुरू हुआ। हमें इस महीने के अंत तक काम पूरा होने की उम्मीद है। हम पहले ही नौ कालीन कंपनी को सौंप चुके हैं। कालीन का इस्तेमाल करने से पहले धुलाई और कुछ अंतिम काम किया जाता है।’’

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददBihar IT Investment: बिहार के आईटी विभाग को मिला 817 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव******Highlights बिहार के सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) विभाग को राज्यभर में डाटा सेंटर स्थापित करने के लिए 817 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्ताव हासिल हुआ है। आईटी विभाग द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि बिहार के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री जिबेश कुमार की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में भारत स्थित एज डेटा सेंटर (ईडीसी) कंपनी व्यूनाउ से प्राप्त 817 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव पर चर्चा की गई।बैठक में राज्य के आईटी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और आईटी कंपनी के प्रबंध निदेशक वी सी रॉय सहित शीर्ष प्रतिनिधियों ने भाग लिया। मंत्री ने कहा, ‘‘हम प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिए तत्पर हैं। प्रस्ताव के उचित मूल्यांकन के बाद इसे अंतिम मंजूरी के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय भेजा जाएगा। अब बिहार के आईटी उद्योग में निवेश के लिए निवेशक आगे आ रहे हैं। राज्य सरकार सभी सुविधाएं प्रदान करेगी, क्योंकि हमारा उद्देश्य बिहार को पूर्वी क्षेत्र का अगला आईटी केंद्र बनाना है।’’बयान में कहा गया है कि यह फर्म डेटा प्रबंधन और कंप्यूटिंग आवश्यकताओं के व्यापक समाधान में माहिर है। शुरुआती योजना के तहत कंपनी पटना में मास्टर हब स्थान पर 100 रैक के साथ एक चार स्तरीय डेटा सेंटर विकसित करेगी और इसकी स्थापित क्षमता 1.2 मेगावॉट होगी। पहले चरण में चार केंद्र - दरभंगा, भागलपुर, पूर्णिया और बक्सर जिलों में स्थापित किए जाएंगे। व्यूनाउ ने इससे पहले हिमाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल में राज्य सरकारों की इसी तरह की परियोजनाओं पर काम शुरू किया है।नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददBihar Politics: 'मोदी के सामने कहीं नहीं टिकते', नीतीश पर सुशील मोदी का बड़ा हमला, बोले- मंडल-कमंडल बीजेपी के साथ******Highlightsबीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने अगले आम चुनाव में प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्षी उम्मीदवार के रूप में जेडीयू सुप्रीमो नीतीश कुमार के उभरने की संभावनाओं को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने नीतीश कुमार कहीं नहीं टिकते हैं और इतना ही नहीं, बीजेपी के पास अब 'मंडल' और 'कमंडल' दोनों का समर्थन है।राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने नीतीश कुमार की उम्मीदवारी की संभावना खारिज करते हुए कहा कि इस कतार में तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख ममता बनर्जी और तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के मुखिया के. चंद्रशेखर राव जैसे बड़े दावेदार मौजूद हैं। नीतीश कुमार के साथ कभी अच्छा तालमेल रखने वाले और उनकी सरकार में तीन से अधिक बार उपमुख्यमंत्री की भूमिका निभा चुके सुशील मोदी ने एक इंटरव्यू में दावा किया कि जेडीयू प्रमुख का प्रभाव उनके गृह राज्य बिहार में भी घट रहा है। उन्होंने कहा, "राज्यों में नीतीश से अधिक ताकतवर नेता हैं, जैसे टीएमसी नेता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, टीआरएस सुप्रीमो और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और आम आदमी पार्टी (AAP) नेता अरविंद केजरीवाल।"मोदी ने कहा, "नीतीश प्रधानमंत्री मोदी के आगे कहीं नहीं टिकते। उनके पास बिहार के बाहर कुछ भी नहीं है और राज्य के नेता के रूप में भी उनका प्रभाव कम हो रहा है। उनकी लोकप्रियता और जनाधार दोनों में गिरावट आई है।" उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि बीजेपी को अब समाज के सभी वर्गों का समर्थन प्राप्त है और यह मंडल-कमंडल युग्मक (बाइनरी) से प्रभावित नहीं है।बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, "आज की बीजेपी मंडल और कमंडल दोनों का प्रतिनिधित्व करती है। मंडल और कमंडल दोनों पार्टी के साथ हैं और प्रधानमंत्री मोदी देश में ओबीसी की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं।" वर्ष 1990 में मंडल आयोग-विरोधी आंदोलन के बाद, 'मंडल' शब्द अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और अनुसूचित जातियों को शामिल करने वाली राजनीति के लिए गढ़ा गया था, जिसमें कई क्षेत्रीय दलों ने इन समुदायों को अपना प्रमुख समर्थक बताया था। साधुओं/तपस्वियों की ओर से इस्तेमाल किया जाने वाला पानी का बर्तन 'कमंडल' बीजेपी की हिंदुत्व की राजनीति का एक रूपक बन गया, खासकर इसलिए भी कि इसकी तुकबंदी मंडल के साथ अच्छी बैठती है।इस सप्ताह की शुरुआत में जब नीतीश कुमार ने सहयोगी बीजेपी से नाता तोड़ लिया था और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के साथ विपक्षी खेमे में शामिल हो गए थे, तो राजनीतिक गलियारों में इस बात को लेकर काफी चर्चा थी कि भगवा पार्टी फिर से 'मंडल बनाम कमंडल' की राजनीति की चुनौती का सामना कैसे कर सकती है। सुशील मोदी ने दावा किया कि नीतीश कुमार राज्य की राजनीति में संतृप्ति बिंदु पर पहुंच गए हैं। उन्होंने दावा किया, "वह देश का उपराष्ट्रपति भी बनना चाहते थे और उनकी पार्टी के नेताओं ने इसके लिए बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व से संपर्क भी किया था।" सुशील मोदी ने गठबंधन तोड़ने के लिए जेडीयू प्रमुख की राष्ट्रीय आकांक्षाओं को जिम्मेदार ठहराया और उनकी पार्टी के नेता राजीव रंजन उर्फ ​​लल्लन सिंह को मुख्य खलनायक करार दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राजद प्रमुख लालू यादव की सत्ता और धन की लोलुपता भी राज्य की एनडीए सरकार के पतन के लिए जिम्मेदार है।

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददसीएम योगी अपने मंत्रियों के साथ देखेंगे अक्षय कुमार की फिल्म सम्राट पृथ्वीराज, रखी गई स्पेशल स्क्रीनिंग******Highlightsउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को अक्षय कुमार की फिल्म सम्राट पृथ्वीराज को विशेष स्क्रीनिंग देखेंगे। फिल्म की विशेष स्क्रीनिंग लोक भवन में होगी जहां मुख्यमंत्री का कार्यालय है।एक वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि की है कि मंत्री योगी आदित्यनाथ अपने कैबिनेट सहयोगियों के साथ फिल्म देखेंगे।इस खास स्क्रीनिंग में योगी आदित्यनाथ के साथ अक्षय कुमार और मानुषी छिल्लर होंगे। वहीं इस दौरान निर्देशक डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी भी मौजूद रहेंगे।ये फिल्म शुक्रवार को पर्दे पर आने वाली है।फिल्म में अक्षय कुमार के साथ मानुषी छिल्लर मुख्य भूमिका में नजर आएंगी। यह मानुषी की डेब्यू फिल्म है।दोनो स्टार हाल ही में फिल्म की सफलता के लिए काशी विश्वनाथ की पूजा के लिए वाराणसी गए थे।फिल्म सम्राट पृथ्वीराज का निर्देशन चंद्र प्रकाश द्विवेदी ने किया है।नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददRanji Trophy 2022: यशस्वी जायसवाल ने किया कमाल; पहले 54 गेंदों पर खोला खाता, फिर जड़ दिया लगातार तीसरा शतक******Highlightsमुंबई के युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने रणजी ट्रॉफी 2022 के सेमीफाइनल मुकाबले में कमाल करते हुए दोनों पारियों में शतक जड़ दिया। दूसरी पारी में यशस्वी ने 54 गेंदों पर अपना खाता खोला था और इसके लिए वह काफी चर्चा में रहे थे। इसके बाद उन्होंने शतक भी जड़ दिया और इस मैच में यह उनका दूसरा और लगातार तीसरा शतक था। इससे पहले उन्होंने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तराखंड के खिलाफ भी दूसरी पारी में 103 रन बनाए थे। मुंबई के लिए वह एक रणजी मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले 9वें बल्लेबाज बने।यशस्वी ने टीम के दूसरे शतकवीर अरमान जाफर (127) के साथ दूसरी पारी में दूसरे विकेट के लिए 286 रनों की पार्टनरशिप की। दोनों खिलाड़ियों की शानदार पारियों की बदौलत मुंबई ने इस मुकाबले पर अपनी पकड़ को और ज्यादा मजबूत कर लिया है। इस मैच में पहले खेलते हुए मुंबई की टीम 393 पर ऑलआउट हो गई थी। जवाब में उत्तर प्रदेश की पूरी टीम महज 180 रनों पर सिमट गई। इसके बाद दूसरी पारी में यशस्वी और जाफर ने मुंबई को विशाल बढ़त तक पहुंचाया।यशस्वी जायसवाल ने अपनी इस पारी में संयम के साथ बल्लेबाजी की है। गुरुवार को मैच के तीसरे दिन उन्होंने अपनी पारी की 54वीं गेंद पर अपना खाता खोला था। उनका खाता खुलने के बाद टीम ड्रेसिंग रूम से उनकी हौसलाफजाई हुई थी जिसे उन्होंने बल्ला उठाकर स्वीकार किया था। अमूमन फिफ्टी या सेंचुरी के बाद बल्लेबाज ऐसा करता है लेकिन 54वीं गेंद पर खाता खोलने के बाद ऐसा करके यशस्वी सोशल मीडिया पर ट्रेंड होने लगे थे। लेकिन इस बात से परे यह है कि यह सिर्फ उनका इस रणजी सीजन में सिर्फ दूसरा मैच है और वह चार में तीन पारियों में शतक लगा चुके हैं।यशस्वी जायसवाल ने IPL 2022 के कुछ शुरुआती मुकाबलों में खराब प्रदर्शन के बाद टूर्नामेंट के आखिरी कुछ मैचों में अपनी टीम राजस्थान रॉयल्स के लिए शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 10 मैचों की 10 पारियों में 258 रन बनाए थे जिसमें दो अर्धशतक भी शामिल थे। वहीं अब रणजी में उन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन को और आगे बढ़ाया है। जिससे यह स्पष्ट है कि उन्होंने टीम इंडिय का दरवाजा खटखटा दिया है। निश्चित ही बाएं हाथ के इस युवा ओपनर पर सेलेक्टर्स की पैनी नजर होगी।

नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददवित्त वर्ष 2019-20 के लिये 5 जनवरी तक 5.08 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न भरे गये******5 जनवरी तक 5 करोड़ से ज्यादा आईटीआर भरे गएनई दिल्ली। आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 (आकलन वर्ष 2020- 21) के लिये पांच जनवरी तक 5.08 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न भरे गये। सरकार ने व्यक्तिगत आयकर रिटर्न दाखिल करने की समयसीमा बढ़ाकर 10 जनवरी और कंपनियों के लिये 15 फरवरी कर दी है। आयकर विभाग ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘आकलन वर्ष 2020-21 के लिये 5.08 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न 5 जनवरी, 2021 तक भरे जा चुके हैं।’’ वित्त वर्ष 2018-19 (आकलन वर्ष 2019- 20)के लिये व्यक्तिगत तौर पर आईटीआर भरने की समयसीमा 31 अगस्त थी और उसके लिये 5.63 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न जमा किये गये। आंकड़ों के अनुसार पांच जनवरी तक 2.7 करोड़ से अधिक आईटीआर-1 भरे गये जो पांच सितंबर, 2019 तक भरे गये 3.1 करोड़ के मुकाबले कम है। वहीं आईटीआर-4 के संदर्भ में पांच जनवरी तक 1.16 करोड़ रिटर्न भरे गये जो पांच सितंबर, 2019 तक 1.28 करोड़ थे।आईटीआर-1 सहज वे लोग भरते हैं जिनकी आय 50 लाख रुपये से अधिक नहीं हैं जबकि आईटीआर-4 हिंदु अविभाजित परिवार (एचयूएफ) और कंपनियों (सीमित जवाबदेही भागीदारी वाली कंपनियों के अलावा) द्वारा भरी जाती हैं, जिनकी आय 50 लाख रुपये तक है और व्यापार तथा पेशे से आय प्राप्त होती है। पांच जनवरी तक आईटीआर-दो 38 लाख से अधिक लोगों ने भरा है। ये आईटीआर वे लोग भरते हैं जिनकी रिहायशी संपत्ति से आय है। वहीं आईटीआर-5 (एलएलपी और एसोसिएशन ऑफ पर्सन) 8.48 लाख तथा आईटीआर-6 (कंपनियां) 4.11 लाख भरे गये। जबकि आईटीआर-7 (वे लोग जिनकी आय ट्रस्ट के अंतर्गत रखी गयी संपत्ति से होती है) के तहत 1.23 लाख रिटर्न भरे गये।इस साल कोरोना संकट को देखते हुए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख को तीन बार बढ़ाया जा चुका है। पहले इसे सामान्य समयसीमा 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 नवंबर, 2020 किया गया। उसके बाद इसे 31 दिसंबर, 2020 तक बढ़ाया गया। जिसके बाद इसे 31 दिसंबर से भी आगे बढा दिया गया।नेबनाया50अरबडॉलरकाइमरजेंसीफंडकोरोनावायरससेलड़नेमेंकरेगामददशाहरुख खान ने कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में की बंगाली बोलने की कोशिश, वीडियो हुआ वायरल******बॉलीवुड के किंग 8 नवंबर को कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का उद्घाटन समारोह में गए थे। जहां उन्होंने स्टेज पर बॉलीवुड की अदाकार राखी के साथ बातचीत भी की। राखी और शाहरुख खान 1993 में फिल्म बाजीगर में मां-बेटे का किरदार निभा चुके हैं। स्टेज पर दोनों ने बंगाली भी बोली।बॉलीवुड अदाकारा राखी बंगाली हैं। उन्होंने शाहरुख खान को कुछ बंगाली शब्द सिखाए। राखी ने शाहरुख को रविंद्रनाथ टैगोर के सदाबहार गाने ओ अमर मति, गाना सिखाया। राखी एक-एक शब्द बोल रही थीं जिसके बाद शाहरुख उन्हें रिपीट कर रहे थे। शाहरुख खान का बंगाली बोलते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।वीडियो में गाना सिखाने के बाद राखी इमोशनल होकर शाहरुख को गले लगाती हैं। शाहरुख ने कहा- मैंने क्या कहा मुझे कुछ समझ नहीं आया। जब मैंने बाजीगर में राखी जी के साथ काम किया था और अभी भी मैं उनके साथ खड़े होने का मौका ढूंढता हूं। आपका बहुत शुक्रिया राखी जी।कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन पर सीएम ममता बनर्जी, राखी, सौरब गांगुली, एमपी नुसरत जहां, एमपी मिमी चक्रवर्ती जाने कई बड़ लोग थे। शाहरुख खान ने दिया जलाकर फेस्टिवल का उद्घाटन किया।

पिछला:Anupama Spoiler : फिर से मां बनकर अपने फर्ज़ से चूक जाएगी अनुपमा? किंजल को होगा मां खोने का एहसास
अगला:Honda की कार खरीदने का शानदार मौका, मिल रहा 2.5 लाख रुपये तक का डिस्काउंट
संबंधित आलेख