मुखपृष्ठ > यान शहर
विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को दी ये बड़ी सौगात
रिलीज़ की तारीख:2022-10-08 03:47:49
विचारों:653

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातAaj Ka Panchang 5 September 2022: जानिए सोमवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय******आज भाद्रपद शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि और सोमवार का दिन है। नवमी तिथि आज सुबह 8 बजकर 27 मिनट तक रहेगी। उसके बाद दशमी तिथि लग जायेगी। आज दोपहर पहले 11 बजकर 28 मिनट तक प्रीति योग रहेगा। उसके बाद आयुष्मान योग लग जायेगा। साथ ही आज रात 8 बजकर 6 मिनट तक मूल नक्षत्र रहेगा। इसके अलावा आज श्रीचन्द्र नवमी है। साथ ही आज दशावतार व्रत और शिक्षक दिवस है। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए सोमवार का पंचांग,राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातबैड बैंक के लिये 30 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की गारंटी को कैबिनेट की मंजूरी: वित्त मंत्री******NARCL के द्वारा जारी सिक्योरिटी रिसीट के लिये 30600 करोड़ की गारंटी को कैबिनेट ने मंजूरी दीनई दिल्ली। भारतीय बैंकों की सबसे बड़ी चुनौती यानि एनपीए से निपटने की दिशा में सरकार ने सबसे अहम कदम बढ़ा दिया है। कैबिनेट ने 15 सितंबर को हुई बैठक में नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी यानि एनएआरसीएल के द्वारा जारी की जाने वाली सिक्योरिटी रिसीट की गारंटी के लिये 30600 करोड़ रुपये को मंजूरी दे दी है। बैड बैंक पर आज मीडिया को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने इसकी जानकारी दी। इस कदम के साथ देश में बैड बैंक को स्थापित करने का रास्ता साफ हो गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि वैल्यूएशन के आधार पर एनपीए के लिये बैंक को 15 प्रतिशत नकद भुगतान किया जायेगा, वहीं 85 प्रतिशत हिस्सा सिक्योरिटी रिसीट के रूप में मिलेगा। वित्त मंत्री ने कहा कि सिक्योरिटी रिसीट की वैल्यू्एशन को बनाये रखने के लिये सरकार को कदम उठाना था, इसलिये गारंटी को मंजूरी दी गयी है। दरअसल जब कोई बैंक फंसे हुए कर्ज को किसी एसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनी को बेचता है तो उसे रकम का 85 प्रतिशत हिस्सा सिक्योरिटी रिसीट के रूप में मिलता है। बैंक रिकवरी पूरी होने पर इस रिसीट को रिडीम करा सकता है। हालांकि रिकवरी में मुश्किलें आने पर एएमसी की सिक्योरिटी रिसीट की रेटिंग गिरने का खतरा बन जाता है। पिछले साल ही कोरोना संकट की वजह से 1 लाख करोड़ रुपये की सिक्योरिटी रिसीटपर रेटिंग डाउनग्रेड होने का खतरा बन गया था। निवेशकों का भरोसा बनाये रखने के लिये सरकार ने सिक्योरिटी रिसीट पर गारंटी को मंजूरी दी है, जिससे एनएआरसीएल द्वारा आने वाले समय में जारी इन रिसीट को बैंकों से फंसे कर्ज खरीदने में आसानी से इस्तेमाल किया जा सके।वित्त मंत्री ने साथ ही जानकारी दी कि बीते 6 सालो में बैंक ने 5 लाख करोड़ रुपये की रिकवरी कर ली है, इसमें से भी 3.1 लाख करोड़ रुपये मार्च 2018 के बाद रिकवर किये गये हैं। वित्त वर्ष 2022 के बजट में वित्त मंत्री ने भारतीय बैंकों के फंसे हुए कर्ज को टेकओवर करने के लिए एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी और एसेट मैनेजमेंट कंपनी स्थापित करने का ऐलान किया था। अब सरकार इसके गठन के लिये आगे बढ़ रही है, केनरा बैंक एनएआरसीएल का लीड स्पॉन्सर होगा और इसके पास 12 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी, वहीं सरकारी बैंकों के पास एनएआरसीएल में कुल मिलाकर 51 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। इस कदम से बैंकों परएनपीए काबोझ कम करने में मदद मिलेगी।भारतीय बैंकों को ग्रॉस एनपीए मार्च 2022 तक 10 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातShanghai Lockdown : शंघाई में भुखमरी के बीच लोग ‘अदलाबदली’ के लिए मजबूर, दाने-दाने को तरस रही जनता******Chinaचीन एक बार फिर लॉकडाउन की बेड़ियों में बंध चुका है। जीरो कोविड पॉलिसी और सफल वैक्सीनेशन प्रोग्राम के बावजूद चीन में हर दिन हजारों कोरोना के मरीज आ रहे हैं। चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई की 2.5 करोड़ की आबादी अपने घरों में बंद है। बाजार खुल नहीं रहे हैं सड़कों पर आवाजाही पूरी तरह से बंद है। शंघाई में कोविड के चलते सख्त लॉकडाउन (Covid lockdown) लगा हुआ है।इस मुश्किल वक्त में लोगों को खाने और रोजमर्रा की जरूरतों के सामान की किल्लत हो रही ह। इस बीच लोगों ने इसके लिए खास जुगाड़ लगा लिया है। लोग ऐसे उपाय कर रहे हैं, जो पैसे से संभव नहीं हो सकता। इसके लिए वे सामान के लेनदेन का सहारा ले रहे हैं। वे सब्जियों के लिए आइसक्रीम या केक के लिए वाइन का लेनदेन कर रहे हैं।परिवहन और कोरियर सेवा बंद होने से शंघाई में कई सामानों की कमी हो गई है। लोग घरों में कैद हैं। ऐसे में, लोग आपस में सामान बदल रहे हैं। 26 वर्षीय केविन लिन और उसके तीन रूममेट्स के पास खाने की कमी हुई तो उन्होंने पड़ोसियों के साथ ट्रेडिंग शुरू कर दी है।शंघाई में रहने वाले लोग चीन के व्हाट्स एप जैसे ही ऐप वीचैट ग्रुप की मदद ले रहे हैं। यहां पर लोग टिशू पेपर से लेकर नूडल्स तक की अदलाबदली कर रहे हैं। सोशल मीडिया खासकर टेनसेंट होल्डिंग्स के वीचैट ऐप (WeChat app) पर ऐसी तमाम डील्स दिखाई दे रही हैं। सहमति बनने के बाद, एक व्यक्ति अपने घर के बाहर सामान रख देता है और दूसरा व्यक्ति आकर उसे ले जाता है। बदले में अपनी तरफ से कोई सामान रख जाता है

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को दी ये बड़ी सौगात

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातICC Women Ranking: भारत को वर्ल्ड कप से बाहर करने वाली बैटर पहुंची टॉप पर, मिताली राज और झूलन गोस्वामी को भी हुआ फायदा******Highlightsआईसीसी (ICC) द्वारा जारी महिलाओं की ताजा वनडे रैंकिंग में साउथ अफ्रीका की ओपनर लॉरा वोलवार्ड्ट (Laura Wolvaardt) बैटरों की सूची में टॉप पर पहुंच गई हैं। आपको बता दें कि मौजूदा वर्ल्ड कप केआखिरी लीग मैच में लॉरा ने भारत के खिलाफ सर्वाधिक 80 रनों की पारी खेली थी और मिताली ब्रिगेड को टूर्नामेंटसे बाहर करने में अहम भूमिका निभाई थी। साथ ही मिताली राज और झूलन गोस्वामी की रैंकिंग में भी सुधार हुआ है।भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच में 68 रनों की पारी खेली थी। उनको इसका फायदा उनकी वनडे रैंकिंग में देखने को मिला है। मिताली अब बैटरों की सूची में 8वें से छठे स्थान पर आ गई हैं। वहीं दिग्गज तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को भी दो स्थान का फायदा हुआ है और वह सातवें से पांचवें स्थान पर पहुंची हैं।टॉप-10 में भारत की दो बल्लेबाज हैं। मिताली दो स्थान की छलांग के साथ छठे तो स्टार ओपनर स्मृति मंधाना 10वें स्थान पर बरकरार हैं। लॉरा ने इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया की एलिसी हेली को पछाड़ कर पहले स्थान पर कब्जा किया है। हेली को इस लिस्ट में नुकसान भी सबसे ज्यादा उठाना पड़ा है। वह अब सीधे पहले से पांचवें स्थान पर खिसक गई हैं।महिला गेंदबाजों की टॉप-10 की लिस्ट में झूलन के अलावा कोई भी अन्य भारतीय गेंदबाज नहीं हैं। इस सूची में इंग्लैंड की सोफी एक्सेलटोन पहले स्थान पर बनी हुई हैं। ऑस्ट्रेलिया की जेस जोनाशन भी दूसरे स्थान पर बरकरार हैं। इस सूची में पांच गेंदबाजों को एक-एक स्थान का नुकसान झेलना पड़ा है। सबसे ज्यादा ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका की तीन-तीन गेंदबाज इस लिस्ट के टॉप-10 में मौजूद हैं।अब टॉप-10 महिला ऑलराउंडर्स की सूची पर नजर डालें तो इसमें भी दो भारतीय खिलाड़ी शामिल हैं। दीप्ति शर्मा 7वें स्थान पर बरकरार हैं तो वहीं झूलन गोस्वामी एक स्थान के नुकसान के साथ 10वें स्थान पर पहुंच गई हैं। ऑस्ट्रेलिया की एलिसा पेरी टॉप पर बरकरार हैं। इस लिस्ट में सबसे ज्यादा ऑस्ट्रेलिया की ही चार खिलाड़ी शामिल हैं।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातDelhi News: शादी के पंडाल में लगी भीषण आग, दमकल की 23 गाड़ियों ने बड़ा हादसा होने से बचाया******Highlightsपश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके में शादी के पंडाल में अचानक आग लगने से हड़कंप मच गया। अधिकारियों के मुताबिक, राजौरी गार्डन इलाके के विशाल एन्क्लेव में शादी के एक पंडाल में देर रात करीब एक बजे आग लग गई। दिल्ली दमकल सेवा के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि दमकल की 23 गाड़ियां मौके पर भेजी गईं और दो घंटे में आग पर काबू पा लिया गया। गर्ग ने कहा कि शादी के जिस पंडाल में आग लगी थी, उसका आकार करीब 5,000 वर्ग गज था। उन्होंने बताया कि आग में एक कार के क्षतिग्रस्त होने की सूचना है।जनकपुरी में लग चुकी है आगबीते जुलाई के महीने में दिल्ली के जनकपुरी में एक कार्यालय में आग लग गई थी। दिल्ली फायरब्रिगेड सेवा के अधिकारियों ने बताया कि दमकल की पांच गाड़ियों को आग बुझाने के लिए भेजा गया और जल्द ही उन्होंने इस पर काबू पा लिया। हालांकि इस दौरान एक दमकल कर्मी घायल हो गया। अधिकारियों ने कहा कि कार्यालय के अंदर दो महिलाएं बेहोश मिलीं, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया।रोहिणी में हुआ था बड़ा हादसाइससे पहले दिल्ली के रोहिणी इलाके में 23 जून को एक इमारत में आग लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 6 लोगों को रेस्क्यू किया गया था। दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया था कि उन्हें सेक्टर 5, पूठ कलां स्थित एक इमारत में आग लगने की सूचना शाम 4:55 बजे मिली थी। इस इमारत में भूतल के अलावा और दो मंजिलें थीं। उन्होंने बताया कि दमकल की दस गाड़ियां मौके पर थीं और आग पर काबू पा लिया गया था।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातNavratri 2021: नवरात्र के सातवें दिन करें मां कालरात्रि की पूजा, जानें मंत्र, भोग******आज के सप्तमी तिथि में माता दुर्गा के सातवीं शक्ति मां कालरात्रि की पूजा की जाएगी। मां कालरात्रि को शुंभकरी के नाम से भी जाना जाता है। आज देवी कालरात्रि की उपासना करने वाले व्यक्ति को किसी प्रकार का भय नहीं रहता। उनके मन से हर प्रकार का डर दूर होता है।जब माता पार्वती ने शुंभ-निशुंभ का वध करने के लिए अपने स्वर्णिम वर्ण को त्याग दिया था तब उन्हें कालरात्रि के नाम से जाना गया। मां कालरात्रि का वाहन गधा है और इनकी चार भुजाएं हैं, जिनमें से ऊपर का दाहिना हाथ वरद मुद्रा में और नीचे का हाथ अभयमुद्रा में रहता है, जबकि बाईं ओर के ऊपर वाले हाथ में लोहे का कांटा और निचले हाथ में खड़ग है। मां का ये स्वरूप देखने में भले ही भयानक लगता है किन्तु ये बड़ा ही शुभ फलदायक है।मां कालरात्रि की पूजा सुबह के समय करना शुभ माना जाता है। मां की पूजा के लिए लाल रंग के कपड़े पहनने चाहिए। मकर और कुंभ राशि के जातको को कालरात्रि की पूजा जरूर करनी चाहिए। परेशानी में हो तो सात या नौ नींबू की माला देवी को चढ़ाएं। सप्तमी की रात्रि तिल या सरसों के तेल की अखंड ज्योति जलाएं। सिद्धकुंजिका स्तोत्र, अर्गला स्तोत्रम, काली चालीसा, काली पुराण का पाठ करना चाहिए। यथासंभव इस रात्रि संपूर्ण दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता, लम्बोष्टी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी। वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा, वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी॥अगर आपका कोई शत्रु आपके पीछे पड़ा हुआ है या आपके घर की सुख-शांति कहीं खो गई है, तो आज आपको मां कालरात्रि की उपासना जरूर करनी चाहिए । साथ ही उनके इस मंत्र का 11 बार जप करना चाहिए ।य त्वं देवि चामुण्डे जय भूतार्ति हारिणि।जय सार्वगते देवि कालरात्रि नमोऽस्तु ते॥सप्तमी नवरात्रि पर मां को खुश करने के लिए गुड़ या गुड़ से बने व्यंजनों का भोग लगा सकते हैं।

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को दी ये बड़ी सौगात

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातविजय माल्या से 963 करोड़ की हुई वसूली, SBI ने दी जानकारी******Bank recovers Rs 963 crore from vijay Mallya says SBI MD देश के बैंकों से 9000 करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज लेकर लंदन भाग चुके शराब कारोबारी से बैंकों ने कुल कर्ज का 10 प्रतिशत से ज्यादा वसूल लिया है, शुक्रवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) अर्जित वासू ने यह जानकारी दी है। SBI उन 13 बैंकों के संगठन का नेतृत्व कर रहा है जिसने माल्या की एयरलाइन किंगफिशर को 9000 करोड़ रुपए का कर्ज दिया था।अर्जित बासू ने बताया भारत में विजय माल्या की अबतक जो भी संपत्तियां नीलाम कीर जा चुकी हैं उनसे 963 करोड़ रुपए वसूली हो चुकी है। उन्होंने यह भी बताया कि ब्रिटश अदालत द्वारा ब्रिटेन के अधिकारियों को माल्या की लंदन स्थित संपत्तियों की जांच और जब्ती के आदेश के बाद भारतीय बैंक ब्रिटेन के अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं जिससे अधिक से अधिक वसूली हो सके।उन्‍होंनेकहा कि हमअदालतकेआदेशसेबहुतखुश हैं और इस तरह केआदेशके साथ हम अबलंदनस्थि‍त संपत्तियों से भीरिकवरीकरनेमें सक्षम होंगे।रिकवरीकी कोई निश्चित राशि बताए बगैर उन्‍होंनेकहा कि हमें उम्‍मीद है कि हम अपने पैसे काएक अच्‍छा-खासा हिस्‍सा रिकवर कर लेंगे।उन्‍होंनेबताया कियूकेप्रवर्तनआदेशएक अंतरराष्‍ट्रीय जब्‍तीआदेशहै औरभारतीयबैंकअपना संपूर्ण कर्ज वसूलने पर ध्‍यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्‍होंनेबताया किबैंकब्रिटेन केअधिकारियोंके साथमिलकरकाम कर रहे हैं और उन्‍होंनेएक मूल्‍यांकनकर्ता को भी नियुक्‍त किया है।हाल ही में,यूकेहाईकोर्ट जज ने 13भारतीयबैंकों के कंसोर्टियम के पक्ष में एक प्रवर्तनआदेशजारी किया है, जोशराबकारोबारीविजयमाल्‍या से अपना धन वसूलने की कोशिश में लगे हुए हैं। वहींविजयमाल्‍या अपने ऊपर लगे 9000 करोड़ रुपए के घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के साथ ही भारत में प्रत्‍यार्पण के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातसलमान खान की फिल्म 'दबंग 3' ने बॉक्स ऑफिस पर की शानदार ओपनिंग******: सलमान खान की फिल्म 'दबंग 3' (हिंदी) के अर्ली कलेक्शन देखकर लग रहा है कि फिल्म पहले दिन 22-24 करोड़ की नेट कमाई कर लेगी, जो एक बेहतर कलेक्शन है। क्योंकिदेश भर में कानून और व्यवस्था की स्थिति के कारण फिल्म का 15-20% कारोबार घटा है। शुरुआती अनुमानों में यह सामान्य से अधिक रेंज है क्योंकि मौजूदा स्थितियों के कारण व्यापार कई केंद्रों पर ऊपर और नीचे है।बॉक्स ऑफिस इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म का अर्ली इस्टीमेट 22-23 करोड़ रुपये है। शाम को थियेटर जल्दी बंद होने की वजह से शाम के शो कम रहे और वरना फिल्म पहले दिन कम से कम 25-26 करोड़ रुपये की कमाई कर सकतीथी। दिल्ली-एनसीआर और यूपी में फिल्म के शो अफेक्ट हुए हैं।देश की कानून व्यवस्था का बुरा हाल होने के बाद सलमान खान की फिल्म ने 20 करोड़ से ज्यादा की ओपनिंग की है इससे एक बात तो साफ है कि सलमान खान का स्टारडम ही है जो दर्शकों को सिनेमा हॉल तक खींचकर ले आता है।

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों को दी ये बड़ी सौगात

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातHappy Birthday Ajay Devgn: कई हिट्स और नेशनल अवॉर्ड हासिल कर चुके अजय देवगन नहीं बनना चाहते थे एक्टर******बॉलीवुड के सिंघम अजय देवगन 2 अप्रैल को53 साल के हो गए हैं। अपनी पहली ही फिल्म से एक्टर ने फैंस के दिलों पर राज किया। एक्शन को लेकर अजय देवगन ने बॉलीवुड में अलग पहचान बनाई। उनकी फिल्मों को क्रिटिक्स और दर्शकों दोनों का प्यार मिलता रहा। साथ ही बॉक्स ऑफिस पर भी उनकी फिल्में रिकॉर्डतोड़ कमाई करती हैं।2 अप्रैल 1969 को दिल्ली में पैदा हुए अजय देवगन ने साल 1991 में फिल्म ‘फूल और कांटे’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अजय के पिता वीरू देवगन बॉलीवुड के जाने-माने स्टंटमैन थे। अजय की मां वीणा देवगन फिल्म निर्माता थीं। घर में फिल्मी माहौल होने की वजह से अजय की रुचि भी फिल्मों में ही थी।मगर बहुत कम लोग इस बात के बारे में जानते हैं कि अजय देवगन बॉलीवुड में हीरो बनने नहीं निर्देशक बनने आए थे। लेकिन किस्मत ने उन्हें बॉलीवुड का एक्शन हीरो बना दिया। हालांकि, उन्होंने निर्देशक बनने की रुचि को अब अंजाम दे रहे हैं। उनकी फिल्म शिवाय बतौर डायरेक्टर पहली फिल्म थी और अजय देवगन अपनी दूसरी फिल्म रनवे 34 को डायरेक्ट करने जा रहे हैं।सभी को पता है कि अजय देवगन ने 'फूल और कांटे' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि इससे पहले अजय देवगन बाल कलाकार के रूप में भी फिल्मी परदे पर उतर चुके हैं। आपको बता दें मिथुन चक्रवर्ती की फिल्म ‘मेरी प्यारी बहना' में अजय देवगन ने मिथुन के बचपन का किरदार निभाया था।अजय देवगन और काजोल ने साथ में ‘हलचल’,'गुंडाराज', 'इश्क', 'प्यार तो होना ही था', 'दिल क्या करे','राजू चाचा' और 'यू मी और हम' जैसी फिल्में की हैं। इस साल रिलीज हुई तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर में काजोल उनकी पत्नी के रोल में थीं। साल 1999 में अजय देवगन ने काजोल से शादी कर ली। दोनों के दो बच्चे न्यासा और युग हैं।अजय को अपने फिल्मी करियर में अब तक 32 अवॉर्ड मिल चुके हैं। जिसमें 2 राष्ट्रीय अवार्ड और 3 फिल्मफेयर शामिल हैं। 'जख्म' के अलावा अजय को 'द लीजेंड ऑफ भगत सिंह' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। फिल्मों में अपने योगदान के लिए अजय को पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है।

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातFastest Road Construction Attempt: नितिन गडकरी का विभाग गिनीज रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में, 4 दिन में बनाएगा इतने किमी सड़क****** केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के कार्यकाल में भारत में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर काफी डेवलप हुआ है। साथ ही उनके मंत्रालय ने पहाड़ों की चोटियों और उन दुर्गम रास्तों पर जहां, पहुंचना आसानी से संभव नहीं हो पाता था, वहां भी शानदार सड़कें बनाने का काम किया है। ताजा मामले में उनके परिवहन विभाग में एक और उपलब्धि जुड़ने जा रही है। दरअसल, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का विभाग 4 दिनों में 75 किलोमीटर की सड़क बनाने का कारनामा करने जा रहा है। ऐसा करके वह वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम करेगा। इसके लिए दुनिया की प्रतिष्ठित गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम महाराष्ट्र पहुंच चुकी है। इस रोड का निर्माण महाराष्ट्र के अमरावती—अकोला राष्ट्रीय महामार्ग पर किया जाएगा। वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए यह काम 110 घंटे लगातार किया जाएगा। इस दौरान इस काम में 800 से ज्यादा मजदूरों टीम जुटेगी।शुरू हो गया निर्माणकेंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के परिवहन विभाग ने सड़क बनाने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने की एक अभियान की आज से शुरुआत की। महाराष्ट्र के अमरावती अकोला महामार्ग के सड़क निर्माण का कार्य शुरू किया गया।लगातार 110 घंटे चलेगानिर्माण कार्य में जुटे अधिकारियों ने बताया कि ऑफिशियल गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए अटेंप्ट किया जाएगा, जिसमें 9 मीटर की 40 किलोमीटर तक पेविंग का काम किया जाएगा। यह कार्य लगातार 110 घंटे तक कार्य चलेगा। अगर इसको दो लेन को नापा जाएगा तो 75 किलोमीटर होगा। आजादी का 75वां वर्ष चल रहा है तो करीबन 75 किलोमीटर की रोड बनाने के लिए रात दिन यह काम चलेगा।माइक्रो प्लानिंग के तहत हो रहा कामइसके लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम यहां पहुंच चुकी है। उनके साथ उनका ऑडिटर भी है। यह निर्माण का काम माइक्रो प्लानिंग के तहत किया जा रहा है। इस पूरे निर्माण कार्य का ड्रोन से वीडियो बनाया जाएगा। भारत में यह इस तरह का अपने आप में पहला रिकॉर्ड रहेगा। राजपथ की टीम इस कार्य को अंजाम देने में लगी हुई है।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातIPL 2022: IPL के आयोजन के लिए मुंबई और पुणे टीम मालिकों का पसंद, विकल्प के तौर पर UAE और अफ्रीका******HighlightsBCCI 2022 इंडियन प्रीमियर लीग की शुरुआत के लिए दो तारीखों पर विचार कर रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिकबोर्ड के कुछ अधिकारी और कुछ फ्रेंचाइजी मालिक लीग को 27 मार्च से शुरू करना चाहते हैं तो वहीं कुछ अन्य प्रभावशाली लोग चाहते हैं कि यह बड़ी स्पर्धा 2 अप्रैल से शुरू हो, जो लोढ़ा समिति की सिफारिशों के अनुरूप है।BCCI के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर न्यूज एजेंसी PTI से बताया , ‘‘ कुछ टीम मालिक इसे 27 मार्च को शुरू करने के पक्ष में है, लेकिन भारत को श्रीलंका के खिलाफ अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय (टी20) मैच 18 मार्च को लखनऊ में खेलना है और फिर आपको लोढ़ा नियम के अनुसार 14 दिनों के अंतराल की आवश्यकता होती है। यही वजह है कि लीग की शुरुआत दो अप्रैल से हो सकती है।’’साथ ही ये बात भी सामने आयी है कि लखनऊ और अहमदाबाद की दो नयी टीमों सहित सभी 10 आईपीएल फ्रेंचाइजी मालिक भारत को 2022 आईपीएल के लिए मेजबान देश के रूप में चाहते हैं। जिसमें मुंबई और पुणे उनके दो पसंदीदा शहर हैं। उनकी दूसरी पसंद संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) है, जहां आईपीएल को तीन बार आयोजित किया गया है। जबकि अंतिम विकल्प दक्षिण अफ्रीका है, जहां 2009 में इसे आयोजित किया गया था। संयुक्त अरब अमीरात और दक्षिण अफ्रीका का विकल्प हालांकि तभी सामने आयेगा जब भारत में कोविड-19 की स्थिति बहुत बुरी होगी। बता दें कि इससे पहले इस बात की भी चर्चा थी कि श्रीलंका भी आईपीएल की मेजबानी कर सकता है लेकिन उसके नाम पर चर्चा तक नहीं की गयी।

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातअमेरिकी फेडरल रिजर्व ने ब्याज दर में 0.25% की बढ़ोतरी की, भारत पर पड़ेंगे ये 5 बड़े असर******Fedral ReserveHighlightsअमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने गुरुवार को ब्याज दर में 0.25% की बढ़ोतरी का ऐलान किया। फेड द्वारा 25 आधार अंकों की वृद्धि से ब्याज दर अब 0.25-0.5 प्रतिशत के दायरे में आ जाएगी। अमेरिका में 40 साल के उच्चतम स्तर पर महंगाई पहुंचने के बाद फेड ने 2018 के बाद पहली बार ब्याज बढ़ाया है। अमेरिकी केंद्रीय बैंक के इस फैसले का असर दुनिया भर के शेयर बाजारों पर देखने को मिलेगा। भारतीय बाजार पर इसके पांच बड़े असर देखने को मिलेंगे। आइए, समझते है कि फेड के इस फैसले से भारत में कहां-कहां असर देखने को मिल सकता है।बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि फेड की ओर से ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद विदेशी निवेशक भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली कर सकते हैं, जिससे बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है। पिछले छह महीने से भारतीय शेयर बाजार से विदेशी निवेशक तेजी से पैसा निकाल रहे हैं। उसकी रफ्तार अब और तेज हो सकती है। कई सेक्टर में बड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है।फेड के इस फैसले से डॉलर को मजबूती मिलेगी जो रुपए को कमजोर कर सकता है। रूस-यूक्रेन संकट के कारण पहले ही रुपया 76 के करीब पहुंच चुका है। ऐसे में आगे अब और गिरावट रुपये में देखने को मिल सकती है।फेड के फैसले से डॉलर की मजबूती सोने को कमजोर करेगी जिसका असर भारतीय बाजार पर भी देखने को मिलेगा। बीते पांच दिनों से सोने में लगातार बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। सोना 54 हजार से टूटकर 51 हजार प्रति 10 ग्राम के करीब पहुंच चुका है। आगे सोना फिर से 46 हजार के स्तर को छू सकता है।फेड द्वारा ब्याज दरें बढ़ाने से आरबीआई (RBI) पर भी रेपो रेट (Repo Rate) में वृद्धि करने का दबाव बनेगा। फेड की ब्याज दरें बढ़ने पर अमेरिका और भारत के बॉन्ड के बीच अंतर कम हो जाएगा। इससे विदेशी निवेशक भारतीय सरकारी प्रतिभूतियों से पैसा निकालने लगेंगे। विदेशी निवेशकों की इस बिकवाली को रोकने के लिए आरबीआई को भी दरों में वृद्धि करनी पड़ेगी। आरबीआई द्वारा प्रमुख ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी से देश में सरकारी व निजी बैंक जमा और लोन पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेंगी। जिसका सीधा असर यह होगा कि सभी तरह के लोन महंगे हो जाएंगें। यानी लोन की ईएमआई बढ़ेगी।अमेरिकी फेड द्वारा ब्याज दरें बढ़ाने से भारतीय कंपनियों के लिए विदेशी धन की उपलब्धता और लागत पर असर पड़ेगा। वैश्विक निवेशक दुनिया भर की संपत्तियों में निवेश करने के लिए शून्य या कम ब्याज दरों वाली मुद्राओं में उधार लेते हैं। अब यह मुश्किल होगा। इससे कंपनियों के लिए एफडीआई से फंड जुटाना थोड़ा मुश्किल हो जाएगा।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातTumbbad Day 1 Collection: सोहम शाह की फिल्म की धीमी शुरुआत, पहले दिन कमाए 65 लाख रुपये****** सोहम शाह की '' की शुरुआत बहुत धीमी रही है। 12 अक्टूबर को रिलीज हुई इस फिल्म ने पहले दिन महज 65 लाख रूपये का कलेक्शन किया है। यह एक हॉरर फिल्म है। फिल्म का ज्यादा प्रमोशन भी नहीं किया गया था।फिल्म क्रिटिक और ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्वीट कर फिल्म की कमाई की जानकारी दी। उन्होंने लिखा- तुम्बाड का पहला दिन धीमा रहा... अच्छा वीकेंड कलेक्शन के लिए दूसरा और तीसरा दिन अच्छा होना चाहिए। शुक्रवार- 65 लाख। भारत।सोहम शाह इसके पहले तलवार फिल्म में नजर आ चुके हैं। इसे आनंद एल राय ने प्रोड्यूस किया है।यह कहानी एक किले में बंद खजाने की खोज की है। जो इसके लालच में फंसता है वो किन-किन मुसीबतों से गुजरता है यही इस फिल्म में दिखाया गया गया है। तुम्बाड की कहानी साल 1920 के आस पास की है। जहां विनायक नाम का एक ब्राह्मण रहता है। वो इतना लालची है कि खजाने की खोज में अपनी जिंदगी से भी खेल जाता है। विनायक के साथ आपको भी इस रहस्य- रोमांच और डर की रोलर कोस्टर राइड करनी होगी।यह फिल्म कई जगह आपको चौंकाएगी, फिल्म में बहुत सारे सस्पेंस सीन हैं। जो आप सोचेंगे वो फिल्म में नहीं होगा। फिल्म का हॉरर और सीन हॉलीवुड के लेवल का है। फिल्म का वीएफएक्स कमाल का है। यह फिल्म एक अद्भुद जर्नी है।फिल्म में लीड रोल में सोहम शाह हैं, उन्होंने कमाल का अभिनय किया है। उनके अलावा फिल्म के बाकी कलाकार भी अपने रोल में फिट हैं।

विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातUP Election 2022: Asaduddin Owaisi ने India TV के Chunav Manch में कहा- जीतने के बाद ठाकुरों और यादवों की बात होती है, मुसलमानों की नहीं****** Uttar Pradesh (U.P) में विधानसभा का सियासी दंगल शुरू हो गया है। इन चुनावों में समाजवादी पार्टी ने छोटे दलों के साथ मिलकर गोलबंदी शुरू कर दी है तो वहीं, BJP अपने पांच का लेखा-जोखा जनता के सामने पेश कर रही है। यूपी में एक बार फिर AIMIM चीफ Asaduddin Owaisi चुनाव मैदान में हैं। Owaisi कई मुद्दों को लेकर योगी और Akhilesh Yadav को घेरते आए हैं। देश के सबसे बड़े Chunav Manch में Asaduddin Owaisi से कई कड़वे सवाल पूछे गए और उन्होंने बेबाकी से जवाब भी दिया।Asaduddin Owaisi से सवाल पूछा गया था, आपके भाषण के वीडियो वगैरह देखने के बाद लगता है कि आप सिर्फ एक समुदाय की बात करते हैं। जबकि आपको गरीब और पिछड़ों की बात करनी चाहिए। इसके जवाब में उन्होंने कहा, 'मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि आप कमजोर को उठाएंगे या कमजोर को दबा देंगे। आपका काम क्या है। जब आप संविधान की शपथ लेते हैं तो आप कहते हैं कि सबको बराबरी का हक दिया जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं किया जाता है।Owaisi कहते हैं, 'आप जीत जाते हैं तो आप ठाकुरों की बात करते हैं अगर आप जीत जाते हैं तो यादवों की बात करते हैं। ये हकीकत है, देश के प्रधानमंत्री के बारे में बीजेपी कहती है कि ओबीसी समाज का सबसे बड़ा नेता यही है। सपा के कार्यकाल में भी ऐसा हो रहा था। जस्टिस सुदर्शन रेड्डी की रिपोर्ट देख लीजिए उन्होंने खुद लिखा है कि प्रदर्शन के दौरान गोली मुसलमानों ने नहीं चलाई। हम लोकतंत्र में विश्वास दिलाकर उन्हें अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए कह रहे हैं।'Asaduddin Owaisi ने आगे कहा, गलत सिर्फ इसलिए है क्योंकि धर्मसंसद करने वाले सिर्फ दो लोगों को ही आप गिरफ्तार करते हैं। जबकि आपके पास वीडियो वगैरह सबकुछ मौजूद है। नरेंद्र मोदी चाहें तो आधे घंटे के अंदर सबकी जुबानें बंद हो जाएंगी। संघ परिवार उन्हें हिम्मत दे रहे हैं कि बेटा आप लोग बोलो और तुम्हें कोई दिक्कत नहीं होगी। जिन्ना का नाम हमसे ज्यादा योगी आदित्यनाथ लेते हैं।विधानसभाचुनावसेपहलेहरियाणाकेमुख्यमंत्रीमनोहरलालखट्टरनेकिसानोंकोदीयेबड़ीसौगातRSS प्रमुख मोहन भागवत पहुंचे गोरखपुर, 26 जनवरी को करेंगे ध्वजारोहण****** राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख पांच दिवसीय प्रचारकों के सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए गुरुवार को गोरखपुर पहुंच गए। संघ के पदाधिकारियों के अनुसार, आरएसएस प्रमुख गणतंत्र दिवस में ही मनाएंगे। भागवत 26 जनवरी की सुबह झंडा फहराएंगे और इसके बाद गोरखपुर में शाखा स्तर के स्वयंसेवकों से बातचीत करेंगे। झंडारोहण कार्यक्रम सरस्वती शिशु मंदिर बिलंदपुर खत्ता में आयोजित होगा। 24 जनवरी से संघ परिवार के अलग-अलग कार्यक्रम होंगे। इस दौरान संघ की शाखाएं भी लगाई जाएंगी।संघ के एक पदाधिकारी ने कहा, "परिवारों में सद्भाव बना रहे और संयुक्त परिवार का संरक्षण हो, इस दिशा में संघ पहले से काम कर रहा है। एक आदर्श परिवार का स्वरूप कैसा होना चाहिए, इस पर विस्तार से बात होगी। माना जा रहा है कि जनसंख्या नियंत्रण कानून पर जो चर्चा चल रही है, उस पर चार प्रांतों के स्वयंसेवकों से राय ली जाएगी। इसके अलावा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर विस्तृत चर्चा होगी।"बैठक में गोरखपुर, कानपुर, वाराणसी और अवध प्रांत के सभी प्रचारक और क्षेत्रीय और प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य हिस्सा लेंगे। इस अवसर पर सह कार्यवाह और उत्तर प्रदेश के प्रभारी दत्तात्रेय होसबोले भी मौजूद रहेंगे। इस वार्षिक बैठक में संगठन की कार्ययोजना और कार्यान्वयन पर विचार-विमर्श होगा।इस बैठक के लिए विश्व हिंदू परिषद (विहिप), अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी), संस्कार भारती आदि को भी आमंत्रित किया गया है। बैठक की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। सभी चार प्रांतों से पदाधिकारियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है।

पिछला:Vastu shastra: किचन में इन चीज़ों को रखन से रुठ जाएंगी माँ लक्ष्मी, बदतर हो जाएंगे आर्थिक हालात
अगला:Honda ने मेड इन इंडिया CB350RS बाइक को किया वैश्विक स्‍तर पर लॉन्‍च, कीमत है इसकी 1.96 लाख रुपये
संबंधित आलेख