मुखपृष्ठ > ज़ुचैंग
LPG Cylinder Price: आम आदमी पर महंगाई की एक और मार, LPG सिलेंडर में 100 रुपये से ज्यादा की बढ़ोत्तरी
रिलीज़ की तारीख:2022-10-08 02:42:26
विचारों:216

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीPM Modi Birthday: प्रधानमंत्री मोदी के बर्थडे पर युवा मना रहे 'राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस', कांग्रेस का बड़ा बयान****** देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज यानी 17 सितंबर को बर्थडे(PM Modi Birthday) है। इस मौके पर कांग्रेस ने दावा किया कि बेरोजगारी की भयावह स्थिति के कारण आज देश के युवा पीएम मोदी का जन्मदिन ‘राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस’ के रूप में मना रहे हैं, जो दुख की बात है। साथ ही कांग्रेस ने प्रधानमंत्री को जन्मदिन की बधाई भी दी और उनके दीर्घायु होने की कामना की। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री के खिलाफ हमारी वैचारिक और राजनीतिक लड़ाई जारी है। हमारे खिलाफ उनका निजी प्रतिशोध तेज हो हो गया है। इसके बावजूद हम अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 72वें जन्मदिवस की बधाई देते हैं।’’पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘‘आज मोदी जी का 72वां जन्मदिवस है, उन्हें हमारी हार्दिक शुभकामनाएं, ईश्वर उनको स्वस्थ और दीर्घायु बनाएं।’’ उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘ भारत में महान प्रधानमंत्रियों के जन्मदिवस को प्रतीकात्मक रूप से मनाया जाता रहा है। बच्चों के प्रिय चाचा नेहरू के जन्मदिन को 'बाल दिवस', इंदिरा जी के जन्मदिन को 'कौमी एकता दिवस' के रूप में, राजीव जी के जन्मदिन को, 'सद्भावना दिवस' और अटल जी के जन्मदिन को 'सुशासन दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। आज देश के युवा 'राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस' मना रहे हैं।’’सुप्रिया ने दावा किया कि भारत विश्व का सबसे युवा राष्ट्र है और आज कामकाजी उम्र के 60 प्रतिशत लोग या तो काम नहीं कर रहे हैं या काम की तलाश भी नहीं कर रहे। उन्होंने कहा, ‘‘20-24 वर्ष की उम्र के 42 प्रतिशत युवा बेरोज़गार हैं। अगर यह स्थिति भयावह नहीं तो और क्या है? मोदी जी ना ही कोरोना और ना ही यूक्रेन-रूस के युद्ध के पीछे छुप सकते हैं।’’ कांग्रेस प्रवक्ता के मुताबिक, देश में कोविड के पहले ही 45 वर्षों में सबसे शीर्ष स्तर पर बेरोज़गारी पहुंच गई थी और इस समय बेरोज़गारी एक साल में सबसे ऊपर 8.3 प्रतिशत के स्तर पर है।उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी से आशा थी कि उनके वादे के मुताबिक 8 साल में 16 करोड़ नौकरियां मिल जानी चाहिए थीं। लेकिन इन 8 वर्षों में नौकरी के आवेदन आए 22 करोड़ और रोज़गार मात्र 7 लाख लोगों को मिले। बेरोज़गारी की मार तो सबसे ज़्यादा महिलाओं पर पड़ी है। कार्यबल में महिलाओं की भागीदारी 26 प्रतिशत से गिरकर 15 प्रतिशत पर चली गयी है।’’सुप्रिया ने सवाल किया, ‘‘कहां हैं सालाना 2 करोड़ रोज़गार? आख़िर क्यों 60 लाख सरकारी पद केंद्र और राज्य सरकारों में ख़ाली पड़े हैं? सबसे ज़्यादा रोज़गार का सृजन करने वाले छोटे लघु मध्यम उद्योगों के लिए कोई नीति क्यों नहीं? आख़िर लाख उकसाने और फटकारने के बावजूद निजी क्षेत्र निवेश क्यों नहीं कर रहा, क्या आपकी नीतियों में भरोसा नहीं है?’’ उन्होंने यह भी पूछा, ‘‘सारा ध्यान हम दो और हमारे दो पर ही केंद्रित रहेगा, तो बाक़ी रोज़गार कहां और कौन सृजित करेगा? युवाओं को स्थायी रोज़गार देने के बजाय 4 साल के ठेके पर रखकर 23 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त करने का षड्यंत्र क्यों?’’कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘मुझे दुख है और बहुत चिंता है कि आज देश के युवा राष्ट्रीय बेरोज़गार दिवस क्यों मना रहे हैं? अभी तो आपके पास लगभग 2 साल हैं - युवाओं को रोज़गार दीजिए - इतिहास इमारतों से नहीं - इरादों से बनता है।’’

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीएनडीए को इन इलाकों में हुआ सर्वाधिक फायदा और यहां हुआ सबसे ज्यादा नुकसान******भाजपा को पूर्वी भारत के ग्रामीण इलाकों में सर्वाधिक सफलता मिली है जबकि उत्तर भारत के ग्रामीण इलाकों में सर्वाधिक नुकसान उठाना पड़ा है। के विश्लेषण से साफ होता है कि भाजपानीत राजग ने अपनी सीटों की संख्या पूर्वी भारत के ग्रामीण इलाकों में 40 से बढ़ाकर 64 कर ली है। लेकिन, तस्वीर उत्तर भारत के ग्रामीण इलाकों में अलग है। यहां राजग के मत प्रतिशत में दस फीसदी की बढ़ोतरी के बावजूद राजग की सीटें 70 से घटकर 56 पर आ गईं।संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के लिए दक्षिण भारत के ग्रामीण और अर्ध शहरी इलाकों से अच्छी खबर आई। दक्षिण के ग्रामीण इलाकों में संप्रग को 10 सीटों का और अर्ध शहरी इलाकों में 20 सीटों का लाभ हुआ है। पूर्वी भारत के ग्रामीण इलाकों में कांग्रेसनीत संप्रग को सात सीटों का और अन्य को 17 सीटों का नुकसान हुआ है।राजग को पूर्वोत्तर के शहरी इलाकों में एक सीट और तीन से चार फीसदी तक के वोट शेयर का नुकसान हुआ है। लेकिन, पूर्वोत्तर के ग्रामीण एवं अर्ध शहरी क्षेत्रों में इसने तीन अतिरिक्त सीटें जीतीं और इसका वोट शेयर यहां तीन से पांच फीसदी तक बढ़ गया। पूरब और अर्ध शहरी उत्तर में अन्य को 16 सीटों और सात-आठ फीसद मत प्रतिशत का नुकसान हुआ है।नतीजों से साफ पता चल रहा है कि राजग को ग्रामीण भारत में अच्छा समर्थन मिला है जबकि माना यह जा रहा था कि ग्रामीण इलाकों के लोग परेशान हैं। अगर वे समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो भी उन्हें यही लगा कि इनका समाधान प्रधानमंत्री मोदी के पास है।भाजपा ने अपने बल पर 303 सीटें जीती हैं। राजग ने बिहार में 40 में से 39 सीट जीती है। भाजपा ने झारखंड में 11, पश्चिम बंगाल में 18, असम में नौ, अरुणाचल व त्रिपुरा की सभी दो-दो और ओडिशा में आठ सीटें जीती हैं। यह भी साफ हुआ कि अनुमानों से उलट, नतीजों में शहरी और ग्रामीण इलाकों को लेकर कोई बड़ा फर्क नहीं देखने को मिला।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीNafed ने बोलीदाताओं का किया अंतिम चयन, जारी किया 15,000 टन आयातित प्याज की आपूर्ति का ऑर्डर******Nafed finalises bidders, issues order for supply of 15,000 tonnes of imported onions सहकारी संस्था नाफेड ने शुक्रवार को कहा कि उसने 15,000 टन आयातित प्याज की आपूर्ति के लिए आदेश जारी कर दिए हैं और इस संबंध में बोलीदाताओं को अंतिम रूप से चयन भी कर लिया है। नाफेड ने कहा कि इससे घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ेगी और कीमतें काबू में रहेंगी। नाफेड ने आगे कहा कि आयातित प्याज बंदरगाह शहरों से वितरित किया जाएगा, इसलिए तेजी से आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों से पूछा गया है कि उन्हें कितनी मात्रा में प्याज चाहिए। ने आयातित प्याज की अतिरिक्त आपूर्ति के लिए नियमित निविदा जारी करने की योजना बनाई है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक गुरुवार को नाफेड को तूतीकोरिन और मुंबई में आपूर्ति के लिए जारी निविदाओं के लिए अच्छी प्रतिक्रिया मिली। नाफेड ने कल शाम ही सफल बोलीदाताओं को अंतिम रूप दे दिया, ताकि बाजार में समय पर आपूर्ति हो सके।नाफेड ने कहा कि इस बार उसने प्याज की गुणवत्ता और आकार पर खासतौर से जोर दिया है, जो भारतीय उपभोक्ताओं की पसंद से मेल खाता हो।गौरतलब है कि भारत में आमतौर पर मध्यम आकार के प्याज को पसंद किया जाता है, जबकि विदेशी प्याज आकार 80 मिमी तक बड़े होते हैं। पिछले साल एमएमटीसी ने तुर्की और मिस्र से सीधे पीले, गुलाबी और लाल प्याज का आयात किया था, जबकि इस साल कम से कम समय में अच्छी गुणवत्ता वाले प्याज की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए निजी आयातकों को आपूर्ति करने की पेशकश की गई है। नाफेड ने कहा कि इस बीच प्याज की थोक और खुदरा कीमतों में लगातार गिरावट देखी जा रही है।महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान और अन्य राज्यों से रबी (सर्दी) के पुराने स्टॉक और खरीफ (गर्मी) के नए स्टॉक की आवक से प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगा है। नाफेड ने उम्मीद जताई कि सरकार के नीतिगत हस्तक्षेप और बफर, आयात तथा नई आवक से आपूर्ति में तेजी होगी और प्याज का बाजार जल्द ही सामान्य हो जाएगा। मंड़ी भाव के अनुसार देश के कुछ हिस्सों में प्याज की खुदरा कीमतें 80-100 रुपये प्रति किलोग्राम तक हैं।

LPG Cylinder Price: आम आदमी पर महंगाई की एक और मार, LPG सिलेंडर में 100 रुपये से ज्यादा की बढ़ोत्तरी

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीदिल्ली दंगों में आरोपी पूर्व पार्षद इशरत जहां को मिली जमानत, स्पेशल सेल ने UAPA के तहत किया था गिरफ्तार******नई दिल्ली: साल 2020 में नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुए दंगों में आरोपी पार्षद इशरत जहां को जमानत मिल गई है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इशरत जहां को UAPA के तहत गिरफ्तार किया था। कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां की तरफ से अदालत में जमानत याचिका दायर की गई थी। इस याचिका में कहा गया था कि पुलिस के पास इशरत के खिलाफ एक भी सबूत नहीं है। इस मामले में इशरत जहां पर गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था।अदालत ने नवंबर 2020 में अपराध की गंभीरता को देखते हुए इशरत जहां को जमानत देने से इनकार कर दिया था। इनमें गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत दर्ज मामले शामिल थे। इशरत जहां मंडोली जेल में कोविड-19 के प्रकोप और अन्य चिकित्सा संबंधी मुद्दों का हवाला देते हुए जमानत मांग रही थीं। इससे पहले उसे शादी के लिए 10 दिन की अंतरिम जमानत दी गयी थी और गवाहों को प्रभावित नहीं करने या सबूतों के साथ छेड़छाड़ नहीं करने का निर्देश दिया गया था।उसकी शादी 12 जून, 2020 को होनी तय हुई थी। इशरत जहां के अलावा जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्र आसिफ इकबाल तनहा, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की छात्रा नताशा नरवाल और देवांगना कालिता, पूर्व छात्र नेता उमर खालिद, जामिया समन्वय समिति की सदस्य सफूरा जरगर, पूर्व आप पार्षद ताहिर हुसैन तथा कई अन्य पर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया था।इन सभी पर फरवरी 2020 में हुए दंगों की साजिश रचने का आरोप था। दंगों में 53 लोगों की मौत हो गयी थी और 700 से अधिक लोग घायल हो गये थे। दिल्ली हाईकोर्ट ने हाल ही में तनहा, नरवाल तथा कालिता को मामले में जमानत दी थी और कहा था कि सरकार ने असंतोष को दबाने की जल्दबाजी में प्रदर्शन के अधिकार तथा आतंकवादी गतिविधि के बीच की रेखा को धूमिल कर दिया।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीAli Fazal Richa Chadha Wedding: भोली पंजाबन और गुड्डू भैया की शादी में हॉलीवुड सेलेब्स का लगेगा जमावड़ा, जानिए कौन-कौन होगा शामिल******Highlights'मिर्जापुर' के गुड्डू भैया यानी अली फजल (Ali Fazal) और 'फुकरे' की भोली पंजाबन यानी ऋचा चड्ढा (Richa Chadha) अपनी लंबी रिलेशनशिप को अब शादी में बदलने जा रहे हैं। दोनों की शादी की पूरी तैयारियां हो चुकी हैं, बीते दिनों इस सेलेब कपल का वेडिंग कार्ड भी खूब वायरल हुआ। इस शादी की रस्में शुरू होने के लिए अब कम ही दिन बचे हैं। इसलिए अब इस रॉयल शादी में शामिल होने वाले मेहमानों के नाम भी सामने आने लगे हैं। खबर है कि बॉलीवुड की इस मोस्ट अवेटेड शादी में कई हॉलीवुड के सितारे भी शामिल होने वाले हैं।आपको बता दें कि अली फजल भारतीय फिल्मों में जितना काम करते हैं उतना ही काम वह हॉलीवुड सिनेमा में भी कर चुके हैं। इसलिए अली फजल के साथ काम कर चुकीं गेरार्ड बटलर और जूडी डेंच जैसी हॉलीवुड हस्तियां अली और ऋचा चड्ढा की शादी में शामिल होंगी। शादी के जश्न में अब कुछ ही दिन बचे हैं, इसलिए ये हॉलीवुड अभिनेता जल्द ही दिल्ली के लिए रवाना होने वाले हैं।सूत्रों के मुताबिक, मुंबई रिसेप्शन में आमंत्रित लोगों में अली फजल के 'विक्टोरिया एंड अब्दुल' के सह-कलाकार डेम जूडी डेंच को आमंत्रित किया गया है और इसी तरह जेरार्ड बटलर को भी आमंत्रित किया गया है, जो अली के साथ आगामी हॉलीवुड फिल्म 'कंधार' में सह-कलाकार हैं। वहीं अली ने हॉलीवुड के महत्वपूर्ण प्रोडक्शन से जुड़े लोगों को भी आमंत्रित किया है और यहां तक कि जासूसी थ्रिलर श्रृंखला 'तेहरान' के कलाकार भी अतिथि सूची में हैं।लोगों को उम्मीद है कि सुपरहिट वेबसीरीज 'मिर्जापुर' की पूरी टीम भी इस शादी में एक साथ नजर आ सकती है। क्योंकि अली फजल भले ही स्क्रीन पर कालीन भैया यानी पंकज त्रिपाठी से बदला लेना चाहते हैं लेकिन असल जिंदगी में दोनों बड़े अच्छे दोस्त हैं। वहीं सूत्रों की मानें तो इस सीरीज के टीम के कई कलाकार शादी में शामिल होंगे। शादी समारोह अब से कुछ दिनों के भीतर नई दिल्ली में शुरू होने की उम्मीद है और अंत में 4 अक्टूबर को मुंबई में संपन्न होगा।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीPM Modi govt 8 years: भारतीय बैकिंग सिस्टम का सबसे बड़ा बदलाव लाई प्रधानमंत्री जनधन खाता योजना, हर भारतीय को मिली वित्तीय ताकत******Jan Dhan YojanaHighlightsPM Modi govt 8 years:1980 के दशक में भारतीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि सरकार जब भी 1 रुपया खर्च करती है तो लोगों तक 15 पैसे ही पहुंच पाते हैं। यह किसी भी प्रधानमंत्री द्वारा भ्रष्टाचार पर की गई सबसे बड़ी स्वीकारोक्ति है। लेकिन करीब 4 दशक के बाद अब भारत की जनता अपने ही पैसों के लिए बिचौलियों पर निर्भर नहीं है। अब उनके पास अपना खाता है 'जनधन खाता'।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में सत्ता संभालने के बाद देश में बैंकिंग के क्षेत्र में सबसे बड़े रिफॉर्म के तहत जनधन खाता योजना को शुरू किया। 28 अगस्त 2014 को शुरु हुई इस मेगा ​स्कीम को 8 साल हो गए हैं। इस दौरान अभी तक 45.41 करोड़ लाभार्थियों ने बैंको में अपने जनधन खाते में 167,145.80 करोड़ रुपये की धनराशि जमा की है।मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री जन धन योजना की शुरूआत की थी। इस योजना के तहत देश के गरीबों का खाता बैलेंस पर बैंक, पोस्ट ऑफिस और राष्ट्रीयकृत बैंको में खोला जाता है। जिन खातों से आधार कार्ड लिंक होगा उन्हें 6 महीने बाद ओवरड्राफ्ट सुविधा, 2 लाख रुपये के दुर्घटना बीमा कवर, लाइफ कवर के साथ कई सुविधाएं दी जाती हैं।जन धन खाता योजना के तहत अब तक देशभर में 45 करोड़ से ज्यादा खाते खुल चुके हैं। सरकार आगे भी इस खाते के जरिए गरीबो की मदद कर सकती है।सुरक्षित तरीके से पैसों की बचत के उद्देश्य के लिये बैंक खातों से हरेक भारतीय नागरिक को जोड़ने के लिये इसकी शुरुआत की गयी थी। इस योजना के शुरुआत होने के पहले दिन ही लगभग 1 करोड़ बैंक खाते खोले गये। जनधन योजना को विश्व इतिहास का सबसे बड़ा बैंकिंग अभियान माना जाता है।सरकार आज अपनी विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत सीधे लाभार्थियों के खाते में पैसा जमा करती है। आज के समय में भारत सरकार के 53 मंत्रालयों की 313 योजनाओं के तहत लाभार्थियों के खातों में सीधे पैसा जमा करती है। जनधन खाते के बिना यह शायद संभव ही न होता। आज पीएम किसान योजना के तहत प्रति वर्ष 6000 रुपये भेजने हों, या फिर महिलाओं को पोषण आहार की राशि उपलब्ध करानी हो। सभी काम जनधन खातों की वजह से संभव हो रहे हैं। अब बिना किसी बिचौलिए के सरकार सीधे गरीबों के खाते में पैसा ट्रांसफर कर सकती है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2016 में नोटबंदी का ऐलान किया तो सभी की निगाहें जनधन खातों पर थी। आम लोगों के पास अपने खाते थे, जिसके चलते लोगों आपनी पुरानी करेंसी को आसानी से बैंकों में जमा कर पाए। इस दौरान जनधन खातों में जमा राशि में आश्चर्यजनक रूप से तेजी​ दर्ज की गई। इस बीच इन जनधन खातों पर भ्रष्टाचार का भी आरोप लगा।

LPG Cylinder Price: आम आदमी पर महंगाई की एक और मार, LPG सिलेंडर में 100 रुपये से ज्यादा की बढ़ोत्तरी

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीCuttputlli Movie: 'कठपुतली' से Akshay Kumar ने भरी हुंकार, बॉलीवुड की उम्मीद बनीं फिल्म ने तोड़े ये रिकॉर्ड****** इन दिनों बॉलीवुड की फिल्में और फिल्मी सितारे लोगों के निशाने पर हैं। सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स लगातार फिल्मों को बायकॉट करने की मांग कर रहे हैं। बड़े से बड़े बजट की फिल्म दर्शकों और निर्माताओं को निराश कर रही है। इस माहौल में अक्षय कुमार की हालिया रिलीज फिल्म 'कठपुतली' एक उम्मीद बनकर उभरती दिख रही है। फिल्म दर्शकों को पसंद आ रही है। ओटीटी प्लेटफॉर्म डिज़्नी हॉटस्टार पर रिलीज हुई इस फिल्म को एक हफ्ते में अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। इस फिल्म की कहानी एक इमोशनल सस्पेंस थ्रिलर जोन से है। कहानी एक सीरियल किलर पर केंद्रित है जो स्कूल की बच्चियों को अपना शिकार बनाता है।पूजा एंटरटेनमेंट की थ्रिलर मर्डर मिस्ट्री को काफी अच्छे रिव्यू मिले हैं। अक्षय कुमार की इस फिल्म ने शुरुआती दिनों में ही ये साबित कर दिया है कि यह फिल्म दर्शकों के दिलों को छू रही है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 8 मिलियन व्यूज के साथ 'कठपुतली' ने खुद को हिट फिल्मों की लिस्ट में शामिल कर लिया है। आपको बता दें 'कठपुतली' ने व्यूज के मामले में आलिया भट्ट की 'डार्लिंग्स' और जाह्नवी कपूर की 'गुडलक जैरी' को पीछे छोड़ दिया है। 'डार्लिंग्स' के ओटीटी व्यूज 6.7 मिलियन थे वहीं 'गुड लक जैरी' को 4.9 मिलियन लोगों ने देखा था।150 करोड़ के बजट में बनी इस फिल्म के डिजिटल राइट्स स्टार ग्रुप ने लगभग 180 करोड़ रुपए में खरीदे हैं। इस फिल्म के लिए खिलाड़ी कुमार ने लगभग 120 करोड़ चार्ज किए हैं। 'कठपुतली' उन फिल्मों में से एक मानी जा रही है, जिसके लिए अन्य ओटीटी प्लेटफॉर्म अब भी अधिक से अधिक भुगतान करने के लिए भी तैयार हैं।इस फिल्म की कहानी की बात करें तो यह फिल्म पहाड़ी शहर कसौली की एक कहानी को दिखाती है। जहां पर अक्षय कुमार के दीदी और जीजा रहते हैं। फिल्म में अभिनेत्री सरगुन मेहता, चंद्रचूड सिंह और अक्षय कुमार ने पुलिस अफसर की भूमिका निभाई गई है। अक्षय फिल्म में पुलिस वाले तो बने हैं लेकिन उनका मन मर्डर मिस्ट्री लिखने में लगता है और कसौली की घाटियों में स्कूल जाने वाली बच्चियों का मर्डर करने वाले सीरियल किलर की तलाश करने में उनकी रिसर्च काम आती है। हर हफ्ते पुलिस के सामने बच्चियों का मर्डर बड़ी चुनौती बन कर आता है।आपको बता दें कि ''कठपुतली'' रंजीत तिवारी द्वारा निर्देशित फिल्म है, यह साउथ की ब्लॉकबस्टर फिल्म 'रतसासन' का हिंदी रीमेक है। दिलचस्प कहानी और भरपूर सस्पेंस आपका दिल दहलाते हुए मनोरंजन करता है। सस्पेंस लवर्स के लिए यह फिल्म एक सरप्राइज पैकेज के जैसी है। फिल्म में जुलियस द्वारा दिया गया बैकग्राउंड स्कोर दर्शकों को और रोमांचक से भर देने के लिए काफी है। फिल्म को जैकी भगनानी, वाशु भगनानी, पूजा एंटरटेनमेंट और दीपशिखा देशमुख फिल्म के निर्माता हैं। कहा जाए तो फिल्म को ओटीटी पर रिलीज करना फायदे का सौदा रहा है।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीUttar Pradesh News: सुबह-सुबह ड्यूटी पर जा रहे होमगार्ड के जवान को गाड़ी ने मारी टक्कर, मौके पर हुई मौत******उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के थाना खंदौली क्षेत्र के अंतर्गत मंगलवार को सुबह-सुबह ड्यूटी पर जा रहा होमगार्ड का जवान एक दर्दनाक हादसा का शिकार हो गया। पुलिस ने बताया कि इस हादसे में सुबह ड्यूटी पर जा रहे होमगार्ड के जवान को सामने से आ रहे एक वाहन ने टक्कर मार दी। इसमें उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि मरने वाले की पहचान नगला ताल गांव निवासी होमगार्ड के जवान रामपाल यादव के रूप में की गई है । उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, और वाहन चालक की तलाश में जुट गई है।यूपी के बाराबंकी जिले में थाना मसौली अंतर्गत ग्राम बिंदौरा के निकट शनिवार को दर्दनाक सड़क हादसा हो गया। हादसे में पहले दो मोटरसाइकिलों के एक-दूसरे से टकराने के बाद उन्हें ट्रक ने रौंद दिया। जिससे इस हादसे में इन पर सवार पांच लोगों की मौत हो गई। इनमें से चार लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी, जबकि पांचवें व्यक्ति की मौत डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में इलाज के दौरान हुई।हालही में गौतमबुद्ध नगर में थाना बिसरख क्षेत्र के एक मूर्ति गोल चक्कर के पास मोटरसाइकिल का टायर फटने से उस पर सवार तीन लोग सड़क पर गिर पड़े। इस घटना में सिर में चोट लगने से एक महिला की मौत हो गई। इस घटना में पिंकी का सिर डिवाइडर से टकरा गया और उन्हें गंभीर चोट आई थी। इसमें अस्पताल में उपचार के दौरान पिंकी की मौत हो गई थी।

LPG Cylinder Price: आम आदमी पर महंगाई की एक और मार, LPG सिलेंडर में 100 रुपये से ज्यादा की बढ़ोत्तरी

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीWI vs NZ, 3rd T20I: किंग-ब्रुक्स के अर्धशतक ने दिलाई वेस्टइंडीज को जीत, न्यूजीलैंड ने 2-1 से किया टी20 सीरीज पर कब्जा******Highlightsवेस्टइंडीज ने तीसरा टी20 मैच जीतकर न्यूजीलैंड को सीरीज में क्लीन स्वीप करने से रोक दिया। मेजबान टीम ने सीरीज की पहली जीत दर्ज करते हुए कीवियों को आखिरी मैच में आठ विकेट से हराया। रविवार को खेले गए मैच में वेस्टइंडीज ने न्यूजीलैंड के 146 रन के लक्ष्य को दो विकेट खोकर 19वें ओवर में हासिल कर लिया। वेस्टइंडीज की तरफ से ब्रैंडन किंग और शमारह ब्रुक्स ने अर्धशतक लगाए तो वहीं ओडियन स्मिथ ने तीन विकेट झटके।शुरू के दोनों मैच हारकर क्लीन स्वीप होने की कगार पर खड़ी कैरेबियाई टीम ने आखिरी मैच में जोरदार पलटवार किया और कीवियों को एकतरफा मुकाबले में हराया। न्यूजीलैंड के 146 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कैरेबियाई टीम को ब्रैंडन किंग और शमारह ब्रुक्स की सलामी जोड़ी ने शानदार और मजबूत शुरुआत दिलाई। दोनों ने पहले विकेट के लिए 79 गेंदों में 102 रनों की साझेदारी की और वेस्टइंडीज को जीत के करीब पहुंचाया। इस दौरान किंग ने 35 गेंदों में 53 रन बनाए। साउथी ने किंग को आउट कर वेस्टइंडीज को पहला झटका दिया। इसके बाद डेवोन थॉमस भी जल्दी ही पवेलियन लौट गए। हालांकि कप्तान रोवमन पॉवेल और शमारह ब्रुक्स ने मिलकर 27 गेंदों में 37 रनों की अटूट साझेदारी की और वेस्टइंडीज को जीत दिला गए। ब्रुक्स 59 गेंदों में 56 और पॉवेल 15 गेंदों में 27 रन बनाकर नाबाद रहे।इससे पहले सबिना पार्क में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन उसके सलामी बल्लेबाज उसे कुछ खास शुरुआत नहीं दिला पाए। न्यूजीलैंड ने तीसरे ओवर में 18 के स्कोर पर मार्टिन गुप्टिल का विकेट गंवा दिया। उन्हें अकील हुसैन ने बोल्ड किया। इसके बाद बल्लेबाजी में तीसरे नंबर पर भेजे गए स्पिनर मिचेल सैंटनर ने डेवोन कॉन्वे के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया और दूसरे विकेट के लिए 30 रनों की साझेदारी की। हुसैन ने एक बार फिर से मेहमान टीम की साझेदारी को तोड़ते हुए सैंटनर को 13 के स्कोर पर चलता किया। इसके बाद हेडेन वॉल्श ने कॉन्वे को आउट कर न्यूजीलैंड को तीसरा झटका दिया।हालांकि कप्तान केन विलियमसन और ग्लेन फिलिप्स ने मिलकर एक अहम साझेदारी निभाई और चौथे विकेट के लिए 35 गेंदों में 47 रन जोड़े। ड्रेक्स ने इस साझेदारी को तोड़ा और विलियमसन को 24 के स्कोर पर चलता किया। दूसरी छोर पर फिलिप्स तेजी से रन बनाने के चक्कर में अर्धशतक से चूक गए और 26 गेंद में 41 रन बनाकर स्मिथ की गेंद पर आउट हुए। इसके बाद स्मिथ ने डैरिल मिचेल और जेम्स नीशम को आखिरी ओवर में आउट कर न्यूजीलैंड को 145 के स्कोर पर ही रोक दिया।

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीदिल्ली में फिर से बंद होंगे स्कूल? निजी स्कूल में एक टीचर और स्टूडेंट कोरोना संक्रमित मिले******Highlights दिल्ली में कोरोना संक्रमण एक बार फिर से पैर फैला रहा है। दिल्ली में स्कूलों में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दिल्ली के एक निजी स्कूल में एक छात्र और एक शिक्षक कोरोना वायरस (COVID-19) संक्रमित पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि छात्र और टीचर के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद दोनों को छुट्टी पर भेज दिया गया है और स्कूल को आगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया है।क्लास के सभी अन्य बच्चों को एहतियात के तौर पर घर वापस भेज दिया गया है।खासकर अप्रैल 2022 से नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत के बाद से कई स्कूल COVID-19 के सक्रिय मामलों की रिपोर्ट कर रहे हैं। लगभग 2 साल की ऑनलाइन कक्षाओं के बाद छात्र स्कूल वापस लौटे हैं लेकिन स्कूलों में लगातार सामने आ रहे कोरोना मामलों ने चिंता बढ़ा दी है।कोरोना के नए-नए वैरिएंट XE ने बच्चों को लेकर चिंता बढ़ी दी है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में चौथी लहर का खतरा भी मंडराने लगा है।दिल्ली-एनसीआर के कई स्कूलों में बच्चों और स्कूल स्टॉफ के कोरोना पॉजिजिव आने से हेल्थ डिपॉर्टमेंट अलर्ट मोड पर आ गया है। नोएडा में पिछले 2 दिनों में अलग-अलग स्कूलों में 50 से ज्यादा कोरोना के नए मामले आए हैं। वहीं दिल्ली के स्कूल में भी कोरोना संक्रमित छात्र और टीचर पाए जाने से चिंता बढ़ गई है। स्कूलों में कोरोना के मामले सामने आने के बाद से स्कूलों को फिर से बंद करने की चर्चा तेज हो गई है। हालांकि, अभी स्कूलो को बंद करने को लेकर कोई सरकारी आदेश नहीं आया है। ज्‍यादातर राज्‍य सरकारों ने मास्‍क पहनने की पाबंदी हटा ली है, ऐसे में नॉन-वैक्‍सीनेटेड बच्‍चों के वायरस से संक्रमित होने का रिस्‍क बढ़ गया है।दिल्ली में कोरोना के 299 मामले सामने आएदिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 299 नए मामले सामने आए और संक्रमण दर 2.49 प्रतिशत रही। स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किये गए आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। दिल्ली में कोविड-19 संक्रमण दर एक सप्ताह में 0.5 प्रतिशत से बढ़कर 2.70 प्रतिशत हो गई है। मंगलवार को स्वास्थ्य बुलेटिन जारी नहीं किया गया था। सोमवार को संक्रमण की दर 2.70 प्रतिशत रही थी, जो दो महीने में सबसे अधिक थी। उससे पहले पांच फरवरी को संक्रमण दर 2.87 प्रतिशत रही थी।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीDelhi Traffic Update: जंतर-मंतर पर होगी किसानों की महापंचायत, आज दिल्ली में इन सड़कों पर जाने से बचें******Highlightsदिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चे के द्वारा जंतर-मंतर पर किसान महापंचायत बुलाई गई है। इस महापंचायत में हजारों किसानों के जुटने की संभावना है। जिसका असर दिल्ली के ट्रैफिक पर पड़ सकता है। इसे देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने यातायात संबंधी निर्देश जारी किये हैं। नई दिल्ली की डीसीपी के अनुसार, इस महापंचायत की परमिशन मांगी गई थी लेकिन भीड़ ज्यादा होने की वजह से परमिशन नहीं दी है। इसी बाबत आज नई दिल्ली इलाके में 144 धारा लागू है।जंतर मंतर पर आयोजित होने जा रही किसान महापंचायत में बड़ी संख्या में किसानों के जुटने की संभावना है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एक नोटिफिकेशन भी जारी किया है जिसमें बताया गया है कि लगभग चार से पांच हजार किसानों के जुटने की आशंका है। इसका नई दिल्ली के ट्रैफिक पर भी असर पड़ने की संभावना है। इसे देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। साथ ही ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए स्टाफ की तैनाती और डायवर्जन का प्लान भी तैयार किया है।ट्रैफिक पुलिस की जानकारी के अनुसार, सोमवार सुबह 10 बजे से जंतर मंतर पर किसान महापंचायत शुरू होगी। जिसमें करीब 4-5 हजार लोगों के इकट्ठा होने की संभावना है। कई जगहों से किसान गाड़ियों में सवार होकर या पैदल चलकर भी जंतर मंतर पहुंचेंगे। इसके चलते टॉलस्टॉय मार्ग, संसद मार्ग, जनपथ, विंडसर प्लेस, कनॉट प्लेस, अशोक रोड, बाबा खड़क सिंह मार्ग, पंडित पंत मार्ग समेत आस-पास के कई रास्तों पर दिनभर कंजेशन रहने की संभावना है।किसानों के मूवमेंट को देखते हुए एहतियात लोकल पुलिस भी कई जगह बैरिकेडिंग कर सकती है, जिसका ट्रैफिक पर असर पड़ सकता है। इसे देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से सुबह एक्स्ट्रा टाइम लेकर घर से निकलने और कंजेशन से बचने के लिए निजी वाहनों के बजाय मेट्रो का इस्तेमाल करने की सलाह दी है।शनिवार रात और रविवार दिन में किसानों के कुछ समूहों ने बार्डर पार करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया। जंतर-मंतर पर जा रहे भाकियू नेता राकेश टिकैत और उनके समर्थकों को भी गाजीपुर बार्डर पार करते ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया। करीब दो घंटे हिरासत में रखने के बाद गाजीपुर बार्डर पर उत्तर प्रदेश की सीमा में उन्हें छोड़ दिया गया।

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीNaseeruddin Shah Birthday: जब दोस्त ने ही कर दिया था नसीरुद्दीन पर चाकू से हमला, इस हीरो ने बचाई थी जान******Highlightsबॉलीवुड इंडस्ट्री में अक्सर दो बड़े अभिनेताओं के बीच दोस्ती कम ही सुनने को मिलती है। लेकिन इस इंडस्ट्री में दो एक्टर ऐेसे भी हैं, जिनकी दोस्ती की मिसालें दी जाती हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारों नसीरूद्दीन शाह और ओम पुरीके बारे में। हालांकि, अब ओम पुरीइस दुनिया में नहीं रहे, लेकिन इनकी दोस्ती को आज भी अटूट माना जाता है। एक बार ओम पुरीने अपनी जान पर खेलकर नसीरूद्दीन की जान बचाई थी। कब घटी थी ये घटना और उन्होंने कैसे बचाई नसीर की जान चलिए हम आपको बताते हैं।नसीर और ओम पुरीके किस्से बॉलीवुड में काफी मशहूर हैं। दोनों सितारे एक दूसरे के जिगरी दोस्त थे। इनकी दोस्ती कॉलेज के दिनों से ही थी। नसीरूद्दीन शाह ने साल 2014 में अपनी किताब ‘And Then One Day: A Memoir’ में बताया था कि कॉलेज की ये दोस्ती बॉलीवुड में पैर जमान के बाद और ज्यादा मजबूत हो गई। अपने साथ हुए एक हादसे का जिक्र करते हुए बताया था कि कैसे एक बार ओम पुरीने एक सिरफिरे दोस्त से उनकी लाइफ बचाई थी।साल 1977 में बॉलीवुड के मशहुर निर्देशक श्याम बेनेगल ‘भूमिका’ फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। स्मिता पाटिल और अमोल पालेकर इस फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे थे। उनके साथ इस फिल्म में ओम पुरी और नसीरुद्दीन शाह भी थे। एक दिन शूटिंग के बाद दोनों एक ढाबे पर खाना खाने गए। तभी ओम पुरीने देखा कि नसीर का दोस्त जसपाल, तेजी से उनकी ओर आ रहा है। ओम पुरी कुछ समझ पाते उससे पहले ही जसपाल ने धारदार हथियार से नसीरुद्दीन शाह पर वार कर दिया। इसके पहले की जसपाल दूसरा वार करता ओम पुरी ने बिना देरी किए उसका हाथ पकड़ लिया और तब तक नहीं छोड़ा जब तक उसने हाथ से चाकू नहीं छोड़ा।अचानक से हुए इस हमले की वजह से नसीर खून से लथपथ हो गए थे। इसके बाद ओम पुरीकिसी तरह से उन्हेंढाबे से बाहर लेकर आए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने कुछ देर बाद जसपाल को गिरफ्तार कर लिया और इस तरह ओम पुरी ने अपनी जान पर खेलकर अपने दोस्त नसीरूद्दीन शाह की जान बचाई थी। नसीरुद्दीन शाह ने अपने किताब में लिखा कि वो जसपाल को अपना सबसे चाहा दोस्त समझते थे, लेकिन वो उनकी सफलता से जलने लगा था और इस कारण उसने उनके ऊपर हमला कर दिया था। नसीरूद्दीन ने उस घटना को याद करते हुए लिखा कि उस दिन ओम पुरी ने मुझे पुलिस की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया था, वो भी बिना देरी किए। वो मेरे सच्चे दोस्त थे। मेरी जान बचाने के लिए वो कुछ भी कर सकते थे।हम आपको बता दें, ओम पुरी और नसीरुद्दीन शाह की दोस्ती नेशनल स्कुल ऑफ़ ड्रामा (NSD) के दिनों से थी। NSD में 4 साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद इन दोनों स्टार्स ने पुणे के (FTII) में जाकर एक्टिंग की पढ़ाई की। इसके बाद सन 1976 में ये दोनों मुंबई शिफ्ट हो गए।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीमिजोरम में कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में 44 बच्चे संक्रमित; कुल 241 नए मामले दर्ज******Highlightsमिजोरम में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 241 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,40,143 हो गई। एक आधिकारिक बयान से यह जानकारी मिली। राज्य सूचना एवं जन संपर्क विभाग की ओर से जारी बयान के अनुसार, नए संक्रमित मरीजों में 44 बच्चे हैं। पूर्वोत्तर राज्य में इस अवधि में संक्रमण से किसी मरीज की मौत नहीं हुई और मृतकों की संख्या 535 बनी हुई है।बयान में बताया गया कि दैनिक संक्रमण दर 7.86 फीसदी है। आइजोल जिले से संक्रमण के सबसे ज्यादा 88 मामले सामने आए। इसके बाद मामित से 51, कोलासिब से 33 मामले सामने आए हैं। राज्य में अभी 1,847 मरीजों का उपचार चल रहा है और 1,37,761 लोग अब तक संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर लालजवामी ने बताया कि अब तक 7.29 लाख से ज्यादा लोगों को टीके की खुराक दी गई है, जिनमें से 5.87 लाख लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है।स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर आर लालथांगलियाना की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में यह बताया गया कि नवंबर में दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन के पहले मामले का पता चलने के बाद से विदेश से लौटे 139 यात्रियों की लेंगपुई हवाईअड्डे पर रैपिड एंटीजन जांच हुई और ऑस्ट्रेलिया तथा सिंगापुर से लौटे दो व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इन्हें जोरम मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में भर्ती कराया गया है और इनके नमूने को जीनोम अनुक्रमण के लिए कोलकाता भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट अगले सप्ताह तक आएगी।

आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीMughal Mosque: मुगल मस्जिद में नमाज पर लगे रोक? केंद्र ने अपना रुख बताने के लिए HC से मांगा समय, कहा- 'संरक्षित स्मारक' है******Highlightsकेंद्र सरकार ने सोमवार को दिल्ली हाई कोर्ट को बताया कि दक्षिण दिल्ली के महरौली क्षेत्र में स्थित मुगल मस्जिद एक 'संरक्षित स्मारक' है और वहां नमाज़ अदा करने पर रोक लगाने के खिलाफ दायर याचिका पर अपना रुख बताने के लिए समय मांगा। केंद्र ने न्यायमूर्ति मनोज कुमार ओहरी से उस याचिका पर निर्देश लेने के लिए और समय देने का आग्रह किया जो कुतुब परिसर के अंदर लेकिन कुतुब अहाते के बाहर स्थित मस्जिद से संबंधित है।केंद्र की ओर से पेश अधिवक्ता कीर्तिमान सिंह ने कहा कि मस्जिद से संबंधित एक मामला साकेत की निचली अदालत में भी चल रहा है। दिल्ली वक्फ बोर्ड के वकील वजीह शफीक ने इस संबंध में दलील देते हुए कहा कि साकेत अदालत के समक्ष लंबित मामला दूसरे मस्जिद से संबंधित है। दिल्ली वक्फ बोर्ड की प्रबंध समिति की ओर से पेश अधिवक्ता एम सूफियान सिद्दीकी ने अदालत से मामले की जल्द से जल्द सुनवाई करने का आग्रह करते हुए कहा कि मस्जिद में मई से नमाज़ नहीं हो रही है।अदालत ने मामले को आगे की सुनवाई के लिए 12 सितंबर के लिए सूचीबद्ध किया और प्रतिवादियों को याचिका पर अपना पक्ष रखने के लिए और समय दे दिया। अदालत ने 14 जुलाई को केंद्र और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) को याचिका पर अपना पक्ष रखने के लिए समय दे दिया था। याचिकाकर्ता ने तब अदालत को बताया था कि यह मस्जिद अधिसूचित वक्फ संपत्ति है, जिसमें एक इमाम और मोअज़्ज़ीन नियुक्त हैं, और विवादास्पद 'कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद' नहीं है।साकेत अदालत के समक्ष लंबित एक याचिका में कुतुब मीनार परिसर में हिंदू और जैन देवताओं को फिर से स्थापित करने का आग्रह इस आधार पर किया गया है कि 27 मंदिरों को मोहम्मद गोरी की सेना में सेनापति कुतुबदीन एबक ने आंशिक रूप से तोड़ा था और इस सामग्री का इस्तेमाल कर कुव्वत-उल -इस्लाम मस्जिद बनाई गई थी।याचिकाकर्ता के वकील ने दावा किया था कि मस्जिद में नियमित रूप से नमाज़ अदा की जाती थी और इसे इबादत के लिए कभी बंद नहीं किया गया था, लेकिन एएसआई के अधिकारियों ने गैर-कानूनी और मनमाना आदेश देकर इसे 13 मई 2022 को नमाज़ अदा करने के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया और इस बाबत कोई नोटिस भी नहीं दिया।आमआदमीपरमहंगाईकीएकऔरमारLPGसिलेंडरमें100रुपयेसेज्यादाकीबढ़ोत्तरीप्यार की एक कहानी सुनो, एक लड़का था..एक लड़की थी...******कहने को आप मेरे सीनियर थे.. लेकिन पहली बार हम फेसबुक पर मिले... वो भी म्यूचुअल के जरिए... हालांकि, मिलने से पहले मेरी एक खास दोस्त ने मुझे आपका नाम बताया था ये कहकर कि आप एक परफेक्ट लाइफ पार्टनर हो सकते हो और मुझे आपसे मिलना चाहिए... लेकिन मैंने ये कहते हुए मना कर दिया था कि आप मेरे सीनियर हो और मैं आपके बारे में ऐसा सोच ही नहीं सकती... लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था...आप मेरे ऑफिस आए थे और मेरे कलीग के बगल में बैठकर बात कर रहे थे। मैंने आपको पहचाना भी नहीं और इस बात को लेकर आप आज भी मेरा मजाक उड़ाते लेकिन तब कहा पता था कि आप मैं अपने जीवन साथी के साथ बैठी हूं... धीरे-धीरे फेसबुक पर बातें बढ़ी फिर नंबर एक्सचेंज किए.. जैसे-जैसे आपको जाना आपकी ओर खिंचती चली गईं... वक्त के साथ-साथ ये रिश्ता और मजबूत हुआ और हम दोस्त से प्रेमी बन गए। लेकिन सबसे बड़ा इम्तिहान अभी बाकी था। हम शादी करना चाहते थे, लेकिन घरवालों का मानना बहुत मुश्किल था...आपके घरवालें लव मैरिज और इंटर कास्ट मैरिज के सख्त खिलाफ थे तो मेरे घरवाले अपनी बेटी को इतनी दूर बिहार नहीं भेजना चाहते थे। मैंने तो जैसे-तैसे अपने घरवालों को मना भी लिया, पर आपके यहां से हरी झंडी मिलना मुश्किल हो रहा था। लेकिन हमने हार नहीं मानी और चुपचाप इंतजार करते रहे आखिरकार हमारा इंतजार रंग लाया और आपके घरवालों ने हामी भर ही दी।ये शादी भी बड़ी अजीब थी... हमारे घरवाले पहली बार एक-दूसरे से मिल रहे थे वो भी शादी से एक दिन पहले... सब कुछ फोन पर ही तय हुआ था... मन में ढेर सारी चिंताए और घबराहट लिए हम मुजफ्फपुर (बिहार) चल दिए। लेकिन वहां जो हुआ वो सच में किसी खूबसूरत तोहफे से कम नहीं था। आपकी फैमिली ने मुझे अपनी बेटी की तरह अपनाया.. ऐसा लगा ही नहीं कि ये लव मैरिज थी जिसमें घरवालों की नाराजगी भी शामिल है। और सबसे मजेदार वाक्या जिसे में कभी नहीं भुला सकती- बिहार में काफी परदा चलता है ये सोचकर मैं लंबा सा घूंघट लेकर घर तक आई, लेकिन ये क्या घूंघट देखकर तो सासू मां ने जोर से डांट लगा दी और साफ कह दिया कि हमारे घर में इतना परदा नहीं चलता। हटाओ इसे। सच में उस वक्त उनकी डांट भी बड़ी मीठी लगी थी।इस वैलेंटाइन पर मैं आपको बस इतना ही कहना चाहती हूं कि थैंक्यू सो मच मेरी जिंदगी में आने के लिए और इसे हसीन बनाने के लिए। हालांकि, पिछले 2 सालों से हम लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में है... लेकिन प्यार ने कभी इन दूरियों का अहसास नहीं होने दिया।

पिछला:ये है दुनिया का सबसे छोटा, हल्‍का और पतला लैपटॉप, इसका आकार है A4 पेपर से भी छोटा
अगला:नोएडा, ग्रेटर नोएडा के अभिभावकों के लिए Good News, स्कूल नहीं बढ़ा सकेंगे फीस
संबंधित आलेख