मुखपृष्ठ > होंगकियाओ जिला
खरीफ बुआई ने पकड़ी रफ्तार, गन्ने का रकबा 50 लाख हेक्टेयर के पार
रिलीज़ की तारीख:2022-10-08 03:34:13
विचारों:739

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपाररोनाल्डो के शानदार गोल से मैनचेस्टर यूनाइटेड ने विलारियाल को 2-1 से हराया******दिग्गज फुटबॉलर और मैनचेस्टर यूनाइटेड के फॉरवर्ड खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के शानदार प्रदर्शन से मैनचेस्टर यूनाइटेड ने ओल्ड ट्रैफोर्ड में खेले गए मैच में विलारियल को 2-1 से हरा दिया। यह रोनाल्डो का चैंपियंस लीग का 178वां मैच था।इसके साथ ही, 36 वर्षीय रोनाल्डो अब यूईएफए चैंपियंस लीग में सर्वाधिक मैच खेलने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने इस मामले में रियल मेड्रिड के पूर्व खिलाड़ी इकेर कैसिलास (177) को पीछे छोड़ दिया।चैंपियंस लीग में सर्वाधिक मुकाबले खेलने के मामले में जावी हर्नांडेज (151) तीसरे और लिओनेल मेसी (149) चौथे स्थान पर हैं।विलारियल के खिलाड़ी पाको अल्केसर ने यूनाइटेड के खिलाभ 53वें मिनट में गोल कर बढ़त बना ली। इसके सात मिनट बाद यूनाइटेड के एलेक्स टेल्स ने शानदार हिट के साथ 60 वें मिनट में गोल कर टीम के वापसी कर दी। एलेक्स ने अपने यूनाइटेड करियर का पहला गोल किया।एक समय में दोनो टीमें बराबरी पर चल रही थी और ऐसा लग रहा था कि यह मैच 1-1 के बराबरी पर खत्म हो जाएगा पर रोनाल्डो के शानदार गोल ने मैच को पलट दिया और यूनाइटेड को 2-1 से मैच को जीत लिया

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारभारतीय सेना ने पेश की मिसाल, नेपाली सेना को दिए वेंटीलेटर****** भारतीय सेना ने रविवार को नेपाली सेना को कोविड-19 महामारी के खिलाफ उसके संघर्ष में सहयोग पहुंचाने के लिए 10 वेंटीलेटर भेंट किए। नेपाल में इस बीमारी से 75 लोगों की मौत हो चुकी है।पढ़े-नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहन क्वात्रा ने रविवार को नेपाली सेना के मुख्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान वहां के सेना प्रमुख पूर्ण चंद्र थापा को वेंटीलेटर सौंपे। भारतीय मिशन ने एक बयान में यह जानकारी दी।ये सघन चिकित्सा की जरूरत वाले मरीजों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में सहायक हैं। बयान में कहा गया है कि भारतीय सेना का नेपाली सेना को सबसे पहले मानवीय सहायता और राहत प्रदान करने का पुराना रिकार्ड रहा है। ये वेंटीलेटर दोनों सेनाओं के बीच इस निरंतर सहयोग के तहत दिए गये हैं।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारNZ vs ENG, 3rd T20I : ग्रैंडहोम के दम पर न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को 14 रन से हराया, सीरीज में 2-1 से आगे******न्यूजीलैंड ने मंगलवार को यहां खेले गए तीसरे टी-20 मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड को 14 रनों से पराजित कर दिया। इस करीबी मुकाबले में जीत के साथ ही न्यूजीलैंड ने पांच मैचों की सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली है। सीरीज का चौथा मुकाबला आठ नवंबर को नेपियर में खेला जाएगा।न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 180 रन बनाए जिसके जवाब में इंग्लैंड की टीम सात विकेट पर 166 रन ही बना पाई।कॉलिन डी ग्रैंडहोम को उनकी शानदार अर्धशतकीय पारी के लिए 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया।इससे पहले, न्यूजीलैंड को मार्टिन गप्टिल (33) ने तेज शुरूआत दिलाई और मेजबान टीम का स्कोर चार ओवर में ही 40 के पार ले गए। उन्हें पैट ब्राउन ने अपने शिकार बनाया।यहां से इंग्लैंड के गेंदबाजों ने टीम को वापसी कराई और एक समय न्यूजीलैंड का स्कोर तीन विकेट पर 69 रन कर दिया। सलामी बल्लेबाज कॉलिन मुनरो (6) और टिम सिफर्ट (7) जल्दी आउट हो गए।न्यूजीलैंड को कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने संभाला। उन्होंने अनुभवी रॉस टेलर (27 ) के साथ मिलकर 66 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी की। 135 के स्कोर पर ग्रैंडहोम (55) आउट हुए।अंत में जेम्स नीशम (20) और मिशेल सैंटनर (15) ने टीम के स्कोर को 180 तक पहुंचाया। इंग्लैंड के लिए टॉम कुरेन ने सबसे ज्यादा 2 विकेट लिए जबकि सैम कुरेन, साकिब महमूद, ब्राउन और मैथ्यू पार्किन्सन ने एक-एक विकेट मिला।लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड के लिए पहला मैच खेल रहे टॉम बैंटन ने 10 गेंदों में 18 रनों की पारी खेली और 27 के कुल योग पर पवेलियन लौट गए। इसके बाद, डेविड मलान ने जेम्स विंस के साथ मिलकर 63 रनों की साझेदारी की। 90 के स्कोर पर मलान 55 रन बनाकर आउट हुए।विंस (49) ने कप्तान इयोन मॉर्गन (18) के साथ 49 रन जोड़े और मेहमान टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। हालांकि, न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड के मध्यक्रम को रन नहीं बनाने दिए।न्यूजीलैंड के लिए लॉकी फग्र्यूसन और ब्लेन टिकनर को 2-2 विकेट मिले जबकि सैंटनर और सोढ़ी को एक-एक विकेट मिला।

खरीफ बुआई ने पकड़ी रफ्तार, गन्ने का रकबा 50 लाख हेक्टेयर के पार

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारGATE 2020 एग्जाम के लिए 20 नवंबर के बाद करेक्शन विंडो लिंक होगा एक्टिवेट, यहां से करें चेक****** इंडियन इंस्टिटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, IIT दिल्ली ने गेट 2020 एग्जाम के संबंध में एक जरूरी नोटिफिकेशन जारी किया है। नोटिफिकेशन के मुतबाकि परीक्षा शहर में बदलाव, पेपर च्वाइस, कैटेगरी में बदलाव करने के लिए करेक्शन विंडो 20 नवंबर के बाद एक्टिवेट कर दी जाएगी. आवेदन करने वाले उम्मीदवार ऑफिशिल वेबसाइट gate.iitd.ac.in पर जाकर गेट आवेदन फॉर्म में बदलाव कर सकेंगे।गेट 2020 की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक जल्द ही गेट आवेदन फॉर्म में करेक्शन करने के लिए विंडो खोल दी जाएगी। 20 नवंबर के बाद कभी भी करेक्शन विंडो लिंक एक्टिवेट कर दिया जाएगा। इस दौरान आवेदन करने वाले उम्मीदवार एग्जाम सिटी, पेपर, कैटेगरी, जेंडर में बदलाव कर सकेंगे। उम्मीदवार ने अगर गेट आवेदन फॉर्म भरते समय कोई गलती की हो तो, वे इसमें 20 नवंबर के बाद बदलाव कर सकेंगे। हालांकि माइनर यानी छोटे करेक्शन के लिए लिंक फिलहाल एक्टिवेट और इसकी मदद से उम्मीदवार नाम, पिता का नाम, कॉलेज का नाम आदि में बदलाव कर सकते हैं।इसके साथ ही गेट 2020 परीक्षा में शामिल होने जा रहे उम्मीदवारों के लिए मॉक टेस्ट सीरीज लिंक भी एक्टिवेट कर दिया गया है. मॉक टेस्ट का लिंक गेट 2020 के सभी विषय के लिए एक्टिवेट कर दिया गया है. मॉक टेस्ट में शामिल होने से उम्मीदवारों को अनुमान लग जाएगा कि परीक्षा में किस तरह के सवाल पूछे जाएंगे. इसके अलावा उम्मीदवार अपने क्षमता का भी आंकलन कर सकेंगे. उम्मीदवार मॉक टेस्ट को नीचे लिखे स्टेप्स को फॉलो कर चेक कर सकते हैं.खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारBurger King का IPO खुलेगा 2 दिसंबर को, मूल्‍य दायरा 59-60 रुपये प्रति शेयर हुआ तय******Burger King IPO to open on Dec 2; price band fixed at Rs 59-60 per shareक्विक सर्विस रेस्‍त्रां (क्‍यूएसआर) चेन बर्गर किंग का आईपीओ दो दिसंबर को पूंजी बाजार में आएगा और कंपनी के आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के तहत शेयरों की बोली लगाने के लिए कीमत का दायरा 59-60 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है। कंपनी ने निवेश जुटाने के लिए प्रस्तावित आईपीओ के तहत अमेरिका स्थित बर्गर किंग की भारतीय सहायक कंपनी 810 करोड़ रुपये जुटाएगी। इसमें 450 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। कंपनी ने बताया कि उसकी प्रवर्तक इकाई क्यूएसआर एशिया छह करोड़ शेयर तक बेचेगी, जो करीब 360 करोड़ रुपये मूल्य के होंगे। कंपनी ने आईपीओ से पूर्व नियोजन के तहत राइट्स इश्यू के जरिये 58.08 करोड़ रुपये और तरजीही आवंटन के जरिये 91.92 करोड़ रुपये जुटाए। बर्गर किंग इंडिया के सीईओ और बोर्ड सदस्य राजीव वर्मन ने बताया कि इस तरह नए शेयरों का निर्गम 600 करोड़ रुपये से घटकर 450 करोड़ रुपये का रह गया। कंपनी ने बताया कि आईपीओ के जरिये जुटाये गए धन का इस्तेमाल मुख्य रूप से पूरे देश में कंपनी के स्वामित्व वाले स्टोर का विस्तार करने और कर्ज चुकाने में किया जाएगा।वर्मन ने कहा कि मास्‍टर फ्रेंचाइज और डेवलपमेंट एग्रीमेंट के तहत, कंपनी को 31 दिसंबर, 2026 तक 700 रेस्‍त्रां खोलने की जरूरत है। कोविड-19 की वजह से कंपनी ने अपनी विस्‍तार लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए समय-सीमा को 31 दिसंबर, 2025 से बढ़ाकर हाल ही में 31 दिसंबर, 2026 किया है।वर्तमान में कंपनी के भारत में 268 स्‍टोर हैं, जिसमें से 8 फ्रेंचाइजी हैं जो मुख्‍यत: एयरपोर्ट पर स्थित हैं। शेष रेस्‍त्रां कंपनी के स्‍वामित्‍व वाले हैं। कंपनी नए स्‍टोर कंपनी-स्‍वामित्‍व वाले ही होंगे। बर्गर किंग की उत्‍तर भारत में में मजबूत उपस्थिति है इसके बाद पश्चिम, दक्षिण और पूर्वी भाग का नंबर है। कहा कि उसकी विस्‍तार रणनीति से देश में 8640 से 10,800 नए रोजगार अवसर पैदा होंगे। बर्गर किंग के एक स्‍टोर पर औसतन 20 से 25 लोगों को रोजगार दिया जाता है। वर्तमान में कंपनी के पास भारत में 4,836 कर्मचारी हैं, जिसमें रेस्‍त्रां और कॉरपोरेट ऑफ‍िस के कर्मचारी भी शामिल हैं।बर्गर किंग के आईपीओ के लिए न्‍यूनतम 250 इक्विटी शेयर के लिए बोली लगाई जा सकेगी। एक खुदरा निवेशक उच्‍चतम मूल्‍य पर अधिकतम 3250 इक्विटी शेयरों के लिए बोली लगा सकता है। कंपनी ने आईपीओ के 10 प्रतिशत हिस्‍से को रिटेल निवेशकों के लिए आरक्षित रखा है। 15 प्रतिशत हिस्‍सा गैर-संस्‍थागत निवेशकों और 75 प्रतिशत पात्र संस्‍थागत निवेशकों के लिए आरक्षित है। बर्गर किंग के शेयर 14 दिसंबर को शेयर बाजार में लिस्‍ट हो सकते हैं।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारगुजरात चुनाव मैदान में हैं 397 करोड़पति उम्मीदवार, सबसे अमीर दसकरोई सीट से कांग्रेस के पंकज पटेल****** में उम्मीदवारों के चुनावी हलफनामे का विश्लेषण करने वाले दो गैर सरकारी संगठनों ने बताया कि कुल 397 उम्मीदवार करोड़पति हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और गुजरात इलेक्शन वॉच (जीईडब्ल्यू) की रिपोर्ट के मुताबिक दो चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव में कुल 1828 उम्मीदवारों में से 1098 ने या तो बारहवीं कक्षा या उससे भी कम पढ़ाई की है। महिला उम्मीदवारों की कुल संख्या 118 है। उम्मीदवारों के चुनावी हलफनामे के विश्लेषण के मुताबिक पहले चरण में चुनाव में उतरने वाले कुल 977 उम्मीदवारों में से 198 ने एक करोड़ रूपये से अधिक की संपत्ति घोषित की है। दूसरे चरण के कुल 851 उम्मीदवारों में से 199 करोड़पति हैं।इस अध्ययन के मुताबिक 397 करोड़पति उम्मीदवारों में से 131 ने पांच करोड़ रूपये की संपत्ति की घोषणा की है जबकि 124 अन्य उम्मीदवारों ने दो करोड़ रूपये से पांच करोड़ रूपये की चल और अचल संपत्ति घोषित की है। सत्तारूढ़ भाजपा ने 142 करोड़पति उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है जबकि विपक्षी कांग्रेस की ओर से ऐसे 127 उम्मीदवार हैं। राकांपा ने 17 करोड़पति उम्मीदवारों को उतारा है जबकि आप के 13 उम्मीदवार और बसपा के पांच उम्मीदवार करोड़पति हैं। रिपोर्ट के मुताबिक 56 निर्दलीय उम्मीदवार भी करोड़पति हैं।सबसे अमीर उम्मीदवार दसकरोई सीट से कांग्रेस के पंकज पटेल हैं। उनकी कुल संपत्ति 231.93 करोड़ रूपये है। उनके बाद दूसरे नंबर पर कांग्रेस के ही राजकोट-वेस्ट सीट से इंद्रनील राजगुरू हैं। उनकी कुल संपत्ति 141.22 करोड़ रूपये है। तीसरे नंबर पर बोटाड सीट से भाजपा उम्मीदवार सौरभ पटेल हैं। वह गुजरात के पूर्व वित्त मंत्री भी हैं। उनकी कुल संपत्ति 123.78 करोड़ रूपये है।इसके ठीक विपरीत छह निर्दलीय उम्मीदवारों ने घोषणा की है कि उनके पास कोई चल-अचल संपत्ति नहीं है। शैक्षणिक योग्यता के मामले में, 1098 उम्मीदवारों ने पांचवी, आठवीं, दसवीं या बारहवीं कक्षा पास की है। 119 उम्मीदवारों ने कहा कि वह महज साक्षर हैं और 23 उम्मीदवारों ने खुद को निरक्षर बताया। पहले चरण का मतदान आज सुबह शुरू हो गया। दूसरा चरण 14 दिसंबर को है और मतगणना 18 दिसंबर को होगी।

खरीफ बुआई ने पकड़ी रफ्तार, गन्ने का रकबा 50 लाख हेक्टेयर के पार

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारसितंबर तक 7 करोड़ से ज्यादा गरीब महिलाओं को फ्री LPG सिलेंडर******Free LPG Cylinder schemeनई दिल्ली। कोरोना संकट की वजह से मुश्किल का सामना कर रहे गरीब परिवारों को केंद्र सरकार की तरफ से एक और राहत का ऐलान किया गया है। सरकार ने गरीब महिलाओं को सितंबर तक 3 मुफ्त एलपीजी सिलेंडर देने का ऐलान किया है। कैबिनेट ने आज इस फैसले को मंजूरी दी। केंद्र के मुताबिक इस योजना की 13500 करोड़ रुपये की लागत आएगी, वहीं इससे 7.4 करोड़ गरीब महिलाओं को फायदा मिलेगा।केंद्र सरकार के अनुसार कोरोना वायरस के मुश्किल वक्त में गरीब परिवारों को मुफ्त में एलपीजी सिलेंडर देने से उन्हें काफी मदद मिली हैं। ये सिलेंडर प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत वितरित किए जा रहे हैं। अप्रैल से जून तक सरकार ने हर गरीब महिला को 3-3 सिलेंडर वितरित किए हैं। अब गरीब परिवारों को सितंबर तक इस सुविधा का लाभ मिल सकेगा।प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की शुरुआत 2016 में की गई थी, पहले गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों को मुफ्त रसोई गैस की सुविधा दी गई थी। बाद में इसका दायरा बढ़ाते हुए अनुसूचित जाति और जनजाति परिवारों, प्रधानमंत्री आवास योजना और अंत्योदय योजना के लाभार्थियों को भी इसमें शामिल कर लिया गया। फिलहाल अब इसमें सभी गरीब परिवार शामिल किए जा चुके हैं। योजना के तहत सरकार मुफ्त सिलेंडर के साथ साथ गैस कनेक्शन खरीदने के लिए, चूल्हा खरीदने के लिए और पहली बार गैस भरवाने के लिए भी मदद देती है।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारजगुआर की पहली एसयूवी एफपेस मानी गई सबसे सुरक्षित कार, एनसीएपी टेस्‍ट में मिली 5 स्‍टार रेटिंग******। टाटा मोटर्स के ब्रिटिश ऑटोमोबाइल ब्रांड जगुआर की हाल में लॉन्‍च की गई पहली एसयूवी न सिर्फ बेहद खूबसूरत है बल्कि अब यह सबसे सुरक्षित कार के रूप में भी प्रमाणित हो चुकी है। अभी हाल में इस कार को सेफ्टी रेटिंग में 5 स्‍टार मिले हैं। जिसस प्रमाणित होता है कि यह कार हर मामले में बेहद सुरक्षित है। यूरो न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (NCAP) के क्रैश टेस्ट में एफ-पेस को 5-स्टार रेटिंग मिली है। इसके साथ ही वयस्कों की सुरक्षा पर इसे 93% अंक, पैदल यात्रियों की सुरक्षा के लिए इसे 80% अंक और बच्चों की सुरक्षा के लिए 85% अंक प्राप्‍त हुए हैं। एफ-पेस को मिली 5-स्टार रेटिंग पर प्रतिक्रिया देते हुए जगुआर लैंड रोवर की प्रोडक्ट इंजीनियरिंग विंग के एग्ज़िक्यूटिव डायरेक्टर निक रॉजर्स ने कहा कि जगुआर एफ-पेस में खूबसूरती के साथ ही सुरक्षा पर भी खास ध्‍यान दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि इस कार में हमने फॉर्वर्ड ट्रैफिक डिटेक्शन और ड्राइवर कंडिशन मॉनिटरिंग सिस्टम भी दिया गया है जिसके चलते इसे 5-स्टार रेटिंग मिली है। NCAP टेस्‍ट के तहत कारे को विभिन्‍न प्रकार की दुर्घटनाओं से गुजारा जाता है, इस टेस्‍ट के बाद ही कार में सुर‍क्षा की स्थिति का पता चलता है।जगुआर एफ-पेस में कुछ बेहतरीन सेफ्टी फीचर्स की बात की जाए तो इसमें पैदल यात्रियों को पहचान लेने वाले फीचर के साथ ऑटोनोमस इमरजेंसी ब्रेकिंग, 6 एयरबैग्स, स्टेबिलिटी कंट्रोल, एबीएस जैसे कई फीचर्स दिए गए हैं। दिल्ली में इस कार की एक्सशोरूम कीमत 60 लाख रुपए है। स्‍पेसिफिकेशंस की बात करें तो जगुआर ने एफ-पेस में 2.0-लीटर का इंजीनियम डीजल इंजन दिया है जो 4000 आरपीएम पर 177 बीएचपी की पावर और 2500 आरपीएम पर 430 न्‍यूटन मीटर का टॉर्क जनरेट करता है। यह कार 8-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन से लैस है। रफ्तार की बात करें तो यह 0-100 किमी/घंटा की रफ्तार पकड़ने में सिर्फ 8.7 सेकंड खर्च करती है। वहीं कार की टॉप स्पीड 208 किमी/घंटा है।

खरीफ बुआई ने पकड़ी रफ्तार, गन्ने का रकबा 50 लाख हेक्टेयर के पार

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारENG vs IND : इंग्लैंड को जीत के लिए रचना होगा इतिहास, पहले कभी नहीं हुआ******Highlightsभारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच खेला जा रहा है। आज मैच का आखिरी दिन है। अब तक चार दिन का खेल हो चुका है और मैच काफी रोचक दौर में पहुंच गया है। इस बीच जब चार दिन का खेल खत्म हुआ, तब तक इंग्लैंड की टीम काफी मजबूत नजर आ रही थी। लेकिन इंग्लैंड के लिए ये जीत इतनी आसान नहीं होने वाली, जितनी नजर आ रही है। इंग्लैंड को ये मैच जीतने के लिए नया कीर्तिमान रचना होगा। अंग्रेजों को वो काम करना होगा, जो अभी तक कभी नहीं हुआ है। देखना होगा कि क्या इंग्लैंड की टीम ऐसा कर पाती है ​या फिर मैच टीम इंडिया अपने नाम कर लेती है।पांचवें टेस्ट के चौथे दिन टीम इंडिया ने इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 387 रनों का टारगेट रखा था। जब ये लक्ष्य दिया गया तो ऐसा लग रहा था कि इंग्लैंड की टीम इसको हासिल नहीं कर पाएगी, लेकिन जब इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने इसका पीछा करना शुरू किया तो लक्ष्य आसान सा नजर आने लगा। इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाजों ने बिना विकेट खोए हुए 100 रन बना दिए। हालांकि ​इसके बाद टीम इंडिया ने वापसी की, एक के बाद एक तीन विकेट गिरे और इंग्लैंड की टीम संकट में नजर आ रही थी। लेकिन इसके बाद ही भारतीय गेंदबाजों की असली परीक्षा होनी थी, क्योंकि पूर्व कप्तान जो रूट और जॉनी बेयरस्टो क्रीज पर आ चुके थे। यहां टीम इंडिया कुछ बैकफुट पर नजर आई। जॉनी बेयरस्टो और जो रूट इस वक्त गजब के फार्म में हैं और अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं, ऐसा ही इस मैच में इन दोनों ने मिलकर किया। भारतीय गेंदबाजों ने कुछ मौके बनाए भी, लेकिन फील्डर इसे विकेट में तब्दील नहीं कर पाए। जब दिन का खेल खत्म हुआ, तब तक इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में तीन विकेट के नुकसान पर 259 रन बना ​लिए थे। अब मैच के आखिरी दिन इंग्लैंड को जीत के लिए 119 रनों की जरूरत और टीम के सात विकेट बाकी हैं। ऐसे में इंग्लैंड के लिए ये जीत मुश्किल नजर नहीं आती।इंग्लैंड की टीम अगर इस मैच को जीतने में कामयाब हो जाती है तो नया कीर्तिमान रचा जाएगा। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अब तक टीम इंडिया 350 रनों का टारगेट देकर कभी भी हारी नहीं है। अगर टीम इंडिया हारी तो नया ​इतिहास रचा जाएगा। वहीं इंग्लैंड ने अपने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में चौथी पारी में सबसे बड़ा रन चेज 359 रनों का किया है। इंग्लैंड की टीम पहली बार इतने बड़ा टागरेट को हासिल करेगी तो भी इतिहास रचा जाएगा। हालांकि अभी ये कहना कि टीम इंडिया हार जाएगी, मुश्किल है। आज पांचवें दिन पहले घंटे का खेल काफी अहम होगा, अगर टीम इंडिया ने दो से तीन विकेट निकाल दिए तो मैच काफी रोचक होने की पूरी संभावना है।

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारWeather Update: देश के किन राज्यों में जमकर बरसेगा मानसून, गुजरात और महाराष्ट्र को लेकर क्यों है अलर्ट, यहां जानिए मौसम का हाल******Highlightsदेश के कई इलाकों में बारिश का दौर जारी है। उन जगहों पर भी बारिश हो गई, जहां भारी उमस और गर्मी महसूस की जा रही थी। मौसम विभाग ने कहा है कि देश में बारिश का दौर जारी रहेगा। इसका कारण यह बताया कि मानसूनी कम दबाव का क्षेत्र अपने निर्धारित स्तर पर बना हुआ है। आने वाले दो या तीन दिनों के बाद से ही इसके दक्षिण की ओर धीरे धीरे बढ़ने के आसार हैं। गुजरात, पश्चिम एमपी और गुजरात के कई इलाकों में बारिश का दौर बना हुआ है। बुधवार को दिल्ली में मध्यम से भारी बारिश हुई। गुरुवार सुबह भी दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में मानसूनी बादल छाए हुए हैं। इसी बीच मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में एनसीआर में बादल छाए रहने, मध्यम बारिश या गरज के साथ बौछारें पड़ने की भविष्यवाणी की है। वहीं देश के उत्तर में पहाड़ी इलाकों में भी बादल बरस रहे हैं।गुजरात और महाराष्ट्र में 23 और 24 जुलाई को भारी बारिश की चेतावनीगुजरात के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश ने जनजीवन ठप कर दिया है। निचले इलाकों के हजारों निवासियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। तापी जिले में तापी नदी पर बने उकाई बांध से भारी मात्रा में पानी छोड़ा गया। गुजरात, कोंकण, गोवा और मध्य महाराष्ट्र में 23 व 24 जुलाई को कही कहीं भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। गुजरात में कुछ जगहों पर 23 और 24 जुलाई को बहुत ही तेज बारिश का पूर्वानुमान है। मध्यप्रदेश में बारिश होने को लेकर मौसम का हाल बताने वाली संस्था स्काईमेट ने एक रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के अनुसार चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिम मध्य प्रदेश और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है। मानसून ट्रफ अब गंगानगर, हिसार, दिल्ली, लखनऊ, वाराणसी, हजारीबाग, बांकुरा, कोलकाता से होते हुए पूर्व दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी की ओर जा रही है।महाराष्ट्र और गुजरात में भारी बारिश की क्या है वजह?महाराष्ट्र और गुजरात में 23 और 24 जुलाई को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। क्योंकि मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बताया है कि उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे इलाकों में एक पश्चिमी विक्षोभ चक्रवाती सर्कुलेशन के रूप में बन गया है। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि 22 जुलाई तक पंजाब, हरियाणा और यूपी में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होगी। वहीं कहीं कही भारी बारिश का भी अनुमान है। उधर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और राजस्थान में 24 जुलाई तक इसी तरह झमाझम बारिश का दौर चलेगा। मौसम विभाग ने उत्तराखंड में 23 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी दी है।एमपी-छत्तीसगढ़, में अगले 5 दिन अच्छी बारिश का अनुमानभारतीय मौसम विभाग का कहना है कि छत्तीसगढ़, विदर्भ, मध्य प्रदेश में अगले 5 दिनों तक अच्छी बारिश की संभावना है। ओडिशा, बिहार, उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में 21 जुलाई और झारखंड में 23 जुलाई को भारी बारिश के आसार हैं। ओडिशा में 22 से 24 जुलाई तक बहुत तेज बारिश का अलर्ट है। पूर्वोत्तर के राज्यों में भी अगले 5 दिनों तक हल्की से मध्यम और कहीं तेज बारिश के आसार हैं।राजस्थान में भी भारी बारिश की चेतावनीमौसम विभाग ने राजस्थान के कई जिलों में गुरुवार को भारी बारिश की भविष्यवाणी करते हुए एक येलो अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने अब अलवर, भरतपुर, दौसा, धौलपुर, करौली, बीकानेर और हनुमानगढ़ के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। तेलंगाना भी बारिश और उसके बाद आई बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। गोदावरी नदी का जलस्तर बढ़ने के बीच गुरुवार को भद्राचलम में तीसरे चेतावनी स्तर पर पहुंच गया।जानिए किन राज्यों में कब हैं बारिश के आसारमौसम पूर्वानुमान एजेंसी के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में 21 जुलाई को और उत्तराखंड में 21-23 जुलाई के दौरान बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। 21 जुलाई को ओडिशा, बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में बारिश की संभावना है। इसके अलावा 23 जुलाई को झारखंड में अलग-अलग भारी वर्षा होने की संभावना है। 22-24 जुलाई के दौरान ओडिशा में भी बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारGT vs RR : राजस्थान की पहले बल्लेबाजी, जानिए दोनों Playing XI******आईपीएल 2022 में आज पहला क्वालीफायर है। प्वाइंट्स टेबल में नंबर एक और दो पर रहने वाली गुजरात टाइटंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच मुकाबला है। दोनों ने अभी तक जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे ऐसा लगता है कि आज का मैच काफी रोचक होगा। हालांकि इस बीच बारिश भी मैच में खलल डाल सकती है, इसकी भी पूरी आशंका है। लेकिन बीसीसीआई ने इसके बाद भी परिणाम निकालने के लिए नया समीकरण निकाला है। हालांकि कोशिश यही होगी कि उसकी जरूरत न पड़े और पूरे 40 ओवर का खेल हो। इसके बाद जो भी टीम अच्छा खेल दिखाए वो जीत। इस बीच आज जो भी टीम जीतेगी, वो सीधी फाइनल में एंट्री कर जाएगी। लेकिन हारी हुई टीम को दूसरे क्वालीफायर में फिर से खेलना होगा।इस बीच इस खास मैच में गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने टॉस जीत लिया है और उन्होंने पहले गेंदबाजी का फैसला किया है। यानी राजस्थान की टीम पहले बल्लेबाजी करेगी और जो भी टारगेट मिलेगा, उसका पीछा गुजरात की टीम करेगी। जहां तक टीम की बात है तो कप्तान हार्दिेक पांड्या ने बताया कि आज का मैच अल्जारी जोफस खेल रहे हैं और लॉकी आज प्लेइंग इलेवन में नहीं हैं। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने बताय कि उनकी टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जो टीम पिछले मैच में थी, वहीं आज भी खेलती हुई नजर आएगी।यशस्वी जायसवाल, जोस बटलर, संजू सैमसन (कप्तान/विकेट कीपर), देवदत्त पडिक्कल, रविचंद्रन अश्विन, शिमरोन हेटमायर, रियान पराग, ट्रेंट बोल्ट, प्रसिद्ध कृष्णा, युजवेंद्र चहल, ओबेद मैककॉय रिद्धिमान साहा (विकेट कीपर), शुभमन गिल, मैथ्यू वेड, हार्दिक पांड्या (कप्तान), डेविड मिलर, राहुल तेवतिया, राशिद खान, रविश्रीनिवासन साई किशोर, यश दयाल, अल्जारी जोसेफ, मोहम्मद शमी

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारIPL 2019: जानें कैसे नीलामी से लेकर युवा खिलाड़ियों पर भरोसे ने दिल्ली कैपिटल्स में जगाई पहला खिताब जीतने की उम्मीद******दिल्ली कैपिटल्स वो टीम है जो पिछले साल तक दिल्ली डेयरडेविल्स के नाम से जानी जाती थी। पिछले काफी समय से दिल्ली का परफॉर्मेंस बेहद बेकार था। दिल्ली ने आखिरी बार प्लेऑफ में अपनी जगह पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी में बनाई थी। उस सीजन में दिल्ली 16 में से 11 मैच जीतकर प्वॉइंट्स टेबल में टॉप पर थी।लेकिन अगले साल सहवाग के जाने के बाद टीम अच्छा नहीं कर पाई। टीम लगातार नीलामी में अपने बड़े खिलाड़ियों को बेच रही थी। 2013 में दिल्ली ने श्रीलंकाई खिलाड़ी महेला जयवर्धने की कप्तानी में आईपीएल खेला और 16 में से मात्र 3 ही मैच जीते। उस सीजन में दिल्ली आसमान से आकर सीधा जमीं पर गिरी थी। प्वॉइंट्स टेबल में दिल्ली सबसे निचले पायदान पर थी।2014 में दिल्ली ने एक बार फिर कप्तान बदला, लेकिन दिल्ली की किस्मत नहीं बदली। दिल्ली ने उस सीजन में मात्र 2 ही मैच जीते। वहीं बात 2015,16 और 17 की करें तो दिल्ली ने क्रमश: 5, 7 और 6 ही मैच जीते।2018 में दिल्ली ने गौतम गंभीर जैसे बड़े कप्तान को एक बार फिर अपनी टीम में शामिल किया। गौतम केकेआर को दो बार खिताब जिता चुके थे। लेकिन दिल्ली आते ही गंभीर की कप्तानी को भी जंग लगा और दिल्ली ने गंभीर की कप्तानी में 6 में से 5 मैच हारे। गंभीर ने तुरंत ही कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया। इसके बाद दिल्ली की टीम की कमान युवा खिलाड़ी श्रेयस अय्यर को सौंपी गई। अय्यर की कप्तानी में दिल्ली ने 8 में से 4 मैच जीते। दिल्ली इस साल भी प्वॉइंट्स टेबल में सबसे नीचे रही।दिल्ली की टीम ने इस सीजन से पहले अपना नाम बदला, टीम को उम्मीद थी की नाम बदलने से शायद उनकी किसमत भी पलट जाए और कुछ ऐसा ही हुआ। दिल्ली की किसमत ने पलटी खाई और आज दिल्ली आईपीएल 2019 की प्वॉइंट्स टेबल पर राज कर रही है।दिल्ली की टीम ने इस आईपीएल में कदम रखने से पहले से ही अपनी खामियों पर काम करना शुरु कर दिया था। दिल्ली ने नीलामी में अच्छे खिलाड़ियों पर बोली लगाने के बाद अपने मैनेजमेंट में सौरव गांगुली जैसे अनुभवी पूर्व खिलाड़ियों को जोड़ कर टीम की नींव रखी। आइए जानते हैं कैसे दिल्ली कैपिटल्स ने कैसे नीलामी से लेकर युवा खिलाड़ियों पर भरोसे ने दिल्ली कैपिटल्स में जगाई पहला खिताब जीतने की उम्मीद-आईपीएल 2019 की नीलामी में इस बार दिल्ली ने अपने बड़े खिलाड़ियों को बेचा नहीं, बल्कि उन्हें रिटेन करके अन्य खिलाड़ियों पर फोकस किया। दिल्ली ने इस सीजन तीन खिलाड़ियों के बदले शिखर धवन को अपनी टीम में शामिल किया जो इस समय दिल्ली के लिए बेहतरीन परफॉर्म कर रहे हैं। वहीं नीलामी में ईशांत शर्मा, अक्षर पटेल, कीमो पॉल और कॉलिन इंग्राम जैसे खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल किया।टीम के कोचिंग स्टाफ में पिछले साल दिल्ली ने रिकी पोंटिंग को शामिल किया था, लेकिन इस साल उन्होंने टीम के मैनेजमेंट को और मजबूत करने के लिए कोलकाता के प्रिंस सौरव गांगुली को टीम में शामिल किया। गांगुली दिल्ली की टीम में एडवाइजर के तौर पर जुड़े हैं। अब गांगुली के साथ पोंटिग टीम को जीत की राह दिखा रहे हैं।दिल्ली की टीम की इस सफलता में एक फैक्टर यह भी रहा कि टीम ने युवा खिलाड़ियों पर पूरा भरोसा दिखाया। युवा कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ-साथ टीम में पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत, संदीप लामिछाने और किमो पॉल जैसे खिलाड़ी हैं। पिछले साल तक पृथ्वी शॉ और लामिछाने ने दिल्ली के लिए बहुत कम मैच खेले थे, लेकिन टीम ने इस साल उनपर भरोसा जताया और यह खिलाड़ी उस भरोसे पर खरे उतरे।यही कुछ फैक्टर हैं जिस वजह से दिल्ली की टीम इस साल अच्छा परफॉर्म कर पा रही है। दिल्ली की टीम प्वॉइंट्स टेबल में इस समय 12 में से 8 मैच जीतकर शीर्ष पर है। दिल्ली का सामना आज चेन्नई सुपर किंग्स के साथ होगा, दिल्ली आज चेन्नई को हराकर अपनी बढ़त को और बढ़ाना चाहेगी।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारPFI : मस्जिदों पर चल रहे केस का विरोध करेगा पीएफआई, ज्ञानवापी- मथुरा मामले की याचिका को बताया गलत******Highlights : ज्ञानवापी-मथुरा (Gyanvapi-Mathura) में मस्जिदों के खिलाफ चल रहे केस के विवाद में अब पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) खुलकर सामने आ गया है। PFI ने तय किया है कि वह मस्जिदों के खिलाफ चल रहे अभियान का विरोध करेगा। केरल के पुत्थनथानी में 23-24 मई को हुई PFI कार्यकारिणी बैठक में यह फैसला लिया गया। पीएफआई का मानना है कि ज्ञानवापी और मथुरा मस्जिद के खिलाफ कोर्ट में दायर की गई याचिका गलत है।पीएफआई ने ज्ञानवापी में वजूखाने के इस्तेमाल पर रोक का भी विरोध किया है। पीएफआई का कहना है कोर्ट का वजूखाने के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाना निराशाजनक है। साथ ही कोर्ट से यह अपील भी की गई है कि 1991 के पूजा स्थल अधिनियम के तहत कोर्ट कोई भी याचिका स्वीकार ना करें।मुसलमान निशाना बनाए जा रहे हैं-पीएफआईपीएफआई ने आरोप लगाया है कि बीजेपी शासित राज्यों में मुसलमान निशाना बनाए जा रहे हैं। यूपी, मध्य प्रदेश और असम में अत्याचार हो रहा है। गौरतलब है कि पीएफआई पर दिल्ली में हिंसा में लोगों को भड़काने और फंडिंग करने के आरोप लगे थे तो वही पीएफआई पर सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भी लोगों को भड़काने के आरोप हैं।पीएफआई की ओर से जारी बयानबता दें कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी पीएफआई की हर एक्टिविटी में मीटिंग और रैली पर खुफिया एजेंसियों की निगाह रहती है।

खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारMaharashtra News: अपनी ज़िंदा पत्नियों का पिंडदान कर रहे यहां के पति, खुद को बताते हैं 'पत्नी पीड़ित'******Highlights पितृपक्ष के मौके पर आज मुंबई में बानगंगा टैंक के किनारे कई लोगों ने अपनी जिंदा पत्नियों का पिंडदान किया। ये सभी ऐसे पत्नी पीड़ित पति थे जिनका या तो तलाक हो चुका है या फिर मामला कोर्ट में लंबित है। इन दिनों पितृपक्ष और श्राद्ध का महीना चल रहा है, जहां लोग अपने मृत परिजनों का पिंडदान करते हैं। पितरों का पिंडदान इसलिए किया जाता है, ताकि उनकी पिंड की मोह माया छूटे और वो आगे की यात्रा प्रारंभ कर सके।इसी मौके पर मुंबई में एक अनोखा नजारा देखने मिला, जहां करीब 50 पत्नी पीड़ित पतियों ने अपनी जिंदा पत्नियों का पिंडदान किया। इन सभी लोगों ने शादी की बुरी यादों से छुटकारा पाने के लिए पूरे विधि विधान के साथ अपनी जिंदा पत्नियों का पिंडदान किया। इनमें से एक शख्स ने मुंडन भी कराया तो बाकियों ने सिर्फ पूजा में हिस्सा लिया।दरअसल, ये कार्यक्रम पत्नी पीड़ित पतियों की संस्था वास्तव फाउंडेशन की तरफ से मुंबई में आयोजित किया गया था। वास्तव फाउंडेशन के अध्यक्ष अमित देशपांडे का कहना है कि ये पिंडदान इसलिए किया गया है, क्योंकि ये सभी लोग अपनी पत्नियों के उत्पीड़न से परेशान थे। इनमें से ज्यादातर ऐसे लोग हैं, जिनका या तो तलाक हो चुका है या फिर वो अपनी पत्नी को छोड़ चुके है। मगर उनकी बुरी यादें अभी भी उन्हें परेशान कर रही है। इन्ही बुरी यादों से मुक्ति के लिए ये आयोजन किया गया है।वहीं पिंडदान करने वाले पतियों का मानना है की महिलाएं अपनी आजादी का फायदा उठाकर उनका शोषण करती हैं, लेकिन उनके आगे पुरुषों की सुनवाई नही होती है। अपनी पत्नियों के साथ उनका रिश्ता एक तरह से मर गया है, इसलिए पितृपक्ष के मौके पर ये पिंडदान किया गया है, ताकि बुरी यादों से उन्हें छुटकारा मिल सके। हर साल वास्तव फाउंडेशन इस तरह का आयोजन अलग अलग शहरों में करवाता है, ताकि ऐसे पीड़ित पति जो अपनी पत्नियों के उत्पीड़न को भुला नही पा रहे हैं और अपने बुरे रिश्ते को ढोने को मजबूर हैं, उससे इन्हें निजात दिलाई जाए।खरीफबुआईनेपकड़ीरफ्तारगन्नेकारकबा50लाखहेक्टेयरकेपारकोल इंडिया का उत्पादन चार महीने में 14% बढ़कर 17.74 करोड़ टन, चालू वित्‍त वर्ष में लक्ष्‍य 63 करोड़ टन का है****** सार्वजनिक क्षेत्र की का चालू वित्त वर्ष के शुरुआती चार महीनों में उत्पादन 14% बढ़कर 17.74 करोड़ टन हो गया। इससे पिछले वित्त वर्ष 2017-18 की अप्रैल-जुलाई अवधि में यह 15.55 करोड़ टन रहा था। शेयर बाजार को दी गई जानकारी के अनुसार जुलाई में कंपनी का उत्पादन 4.05 करोड़ टन रहा। पिछले साल जुलाई में यह आंकड़ा 3.67 करोड़ टन था। कंपनी ने 2018-19 के लिए 63 करोड़ टन कोयला उत्पादन का लक्ष्य रखा है। एक अलग बयान में कंपनी ने बताया कि अप्रैल-जुलाई अवधि में तापीय विद्युत संयंत्रों को कोयला आपूर्ति में उसने दोहरे अंक यानी 15.1% की वृद्धि दर्ज की है।चालू वित्त वर्ष के शुरुआती चार माह में कंपनी ने विद्युत संयंत्रों को 16.17 करोड़ टन कोयला आपूर्ति की है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 14.05 करोड़ टन रहा था।

पिछला:पेट्रोल-डीजल के दाम एक बार फिर घटे, यहां जानें 4 प्रमुख महानगरों समेत पूरी रेट लिस्‍ट
अगला:World Cup 2019: चोटों से जूझ रही ऑस्ट्रेलिया के लिए चिंतित है पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग
संबंधित आलेख